मैच (19)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
CAN T20 (2)
फ़ीचर्स

दन्याल : एक शाम पाकिस्तान के नाम

बाबर और इमाम के शतकों के बदौलत पाकिस्तान ने ऐसी टीम को हराया जो उनके लिए परेशानी का सबब बन चुकी है

बैकवर्ड प्वाइंट के ऊपर से करारा प्रहार करते हुए बाबर  •  AFP/Getty Images

बैकवर्ड प्वाइंट के ऊपर से करारा प्रहार करते हुए बाबर  •  AFP/Getty Images

आप गद्दाफ़ी स्टेडियम में जाते हुए लिबर्टी गोल चक्कर से गुज़रेंगे तो आपको ऑस्ट्रेलियाई झंडा, यूनियन जैक, राष्ट्रमंडल का तारा और सथर्न क्रॉस जैसे ऑस्ट्रेलिया के कई चिंह दिखाई देंगे। सद्भावना से परिपूर्ण इस दौरे में यह मेहमान टीम के लिए एक और अच्छी चीज़ है। साथ ही कौन नहीं चाहेगा ऐसी टीम का समर्थन करना जो मैच जीतना जानती हो?
एक ऐतिहासिक दौरे के शुरू होने के एक महीने बाद और ख़त्म होने से एक सप्ताह पहले, ऐसे चिंह से संभंदित टीम ने ही जीत का स्वाद चखा है। पाकिस्तान अब तक कुछ भी नहीं जीता और गुरूवार को भी ऐरन फ़िंच के गोल्डन डक के बावजूद ऐसा लग रहा था हार का सिलसिला आज भी जारी रहेगा। जैसे जैसे शाम ढलने लगी वैसे वैसे गर्मी कम होने के साथ अधिक समर्थक गद्दाफ़ी स्टेडियम में घुसते गए। ऐसे में पाकिस्तान के पताके का सफ़ेद और हरा ज़्यादा दिखाई देने लगा, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के चिंहों से बच पाना मुश्किल ही था।
यह चिंह पाकिस्तान के सबसे ख़ौफ़नाक प्रतिद्वंदी का प्रतीक है। उनकी पीली पोशाक से ना जाने कितने पाकिस्तानी समर्थकों को अनगिनत मैचों के बुरे सपने आते होंगे। ऑस्ट्रेलिया ने 2017 के बाद लगातार 10 वनडे मैचों में पाकिस्तान को परास्त किया है। मध्यांतर में 348 का स्कोर खड़ा देख कर ऐसा ही लगा कि वह आंकड़ा ज़रूर आज के दिन 11 तक पहुंच जाएगा।
पाकिस्तान की शुरुआत से ऐसा लगता है कि लक्ष्य 350 के बजाय 250 के क़रीब है। और ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध पाकिस्तान ने भी घर पर कभी दूसरी पारी में 251 से ज़्यादा चेज़ नहीं किया है। पांचवे ओवर में जब मार्कस स्टॉयनिस फ़ख़र ज़मान का एक ज़बरदस्त कैच बाउंड्री में नहीं पकड़ पाए तो ऐसा लगा मैच और सीरीज़ दोनों में अभी जान है।
फ़ख़र ने मौक़े का फ़ायदा उठाते हुए अनुभवहीन गेंदबाज़ी पर दबाव डालना शुरू किया। यह उल्लेखनीय है कि इस ऑस्ट्रेलियाई टीम में कोई भी तेज़ गेंदबाज़ उनके श्रेष्ठ एकादश में नहीं दिखेंगे। इस बीच इमाम-उल-हक़ अपने स्ट्राइक रेट को बढ़ाने की कोशिश में हैं। ऐसा सिर्फ़ पाकिस्तान में होता है कि एक खिलाड़ी 314 रनों का पीछा करते हुए 107 के स्ट्राइक रेट से 103 बनाता है और फिर भी लोग उंगलियां उठाते हैं। मंगलवार को कप्तान बाबर आज़म ने उन्हें सबके सामने डांटा था क्योंकि उन्हें लगा इमाम आख़िर तक रहकर टीम को जिता सकते थे।
आज जब इमाम अपने सैंकड़े पर पहुंचते हैं तो दूसरे छोर पर बाबर मौजूद हैं और इमाम के जश्न में कहीं ना नहीं एक आक्रोश भी दिखती है। मैदान में जोश के साथ साथ उनके कप्तान भी उन्हें गले लगा लेते हैं। यह सिर्फ़ 48 पारियों में उनका नौवां शतक है और अब इस मामले में वह अपने मशहूर रिश्तेदार से केवल एक सैंकड़ा पीछे हैं। लक्ष्य के दो-तिहाई रास्ते पर स्टेडियम फिर जीत का सपना देखने लगता है।
इमाम आउट हो जाते हैं लेकिन बाबर अगली 11 गेंदों पर छह बाउंड्री जड़ते हैं और दोनों लेगस्पिनर और शॉन ऐबट की जमकर धुलाई करते हैं। मैच के बाद बाबर ज़रूर कहते हैं कि पारी की गतिशीलता को देखते हुए टीम ने कभी हिम्मत नहीं हारी, लेकिन लाहोरी समर्थकों ने ऑस्ट्रेलिया को इतना तो फ़ॉलो किया है कि उन्हें पता हो कि मैच ख़त्म नहीं हुआ है। और अपेक्षाकृत तरीक़े से बाबर और मोहम्मद रिज़वान जल्दी आउट होते हैं और नेथन एलिस एक किफ़ायती ओवर डाल देते हैं। अब 18 गेंदों पर 27 रन चाहिए और पुराने सदमें वापस दस्तक दे रहीं हैं।
ख़ुशदिल ऐसे डर को दूर करते हैं और शायद मिडिल ऑर्डर से जुड़ी समस्याओं को ढक देते हैं। यह पूर्ण बल की ऑस्ट्रेलियाई टीम नहीं है लेकिन पाकिस्तान ने अपने इतिहास का रिकॉर्ड वनडे चेज़ हासिल किया है। विपक्षी टीम चोट, कोविड-19 और आईपीएल अनुबंधों के चलते कुछ ख़ास खिलाड़ियों के बिना खेली हो लेकिन उनकी टोपी पर चिंह तो ऑस्ट्रेलिया का ही था।
बड़े बुज़ुर्ग और बच्चों ने भी इस टीम से मिले हार को देखा है और जाना है और गुरूवार को उनके चेहरे पर मुस्कान बता रही है कि उन्हें इस वक़्त का कितना इंतज़ार था। आज सथर्न क्रॉस की नहीं, आज है बारी सितारा और हिलाल (वर्धमान) की।

दन्याल रसूल ESPNcricinfo में सब एडिटेर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo के भाषा लीड देबायन सेेन ने किया है।