ख़बरें

पंत ने बताई डेविड के ख़िलाफ़ रिव्यू न लेने की वजह

15वें ओवर में टिम डेविड पहली ही गेंद पर पंत के दास्तानों में कैच थमा बैठे थे

Ricky Ponting and Rishabh Pant look on, Mumbai Indians vs Delhi Capitals, IPL 2022, Wankhede Stadium, Mumbai, May 21, 2022

रिकी पोंटिंग ने बतौर कप्तान ऋषभ पंत का बचाव किया है  •  BCCI

टिम डेविड अपनी पहली गेंद पर ऋषभ पंत को कैच थमा बैठे थे, गेंद उनके बल्ले को छूती हुई विकेटों के पीछे चली गई थी। उस समय मुंबई इंडियंस को जीत के लिए 33 गेंदों में 65 रनों की दरकार थी। अंपायर तपन शर्मा बल्ले से लगे किनारे को ढूंढ पाने में नाकाम रहे लेकिन पंत ने अपील करने के बावजूद रिव्यू न लेने का निर्णय किया, वह भी तब जबकि दिल्ली कैपिटल्स के पास रिव्यू के दोनों मौक़े मौजूद थे।
इसके बाद डेविड ने अगली दस गेंदों पर ताबड़तोड़ 34 रन बना डाले और खेल पूरी तरह से मुंबई के पक्ष में घूम गया। ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो लक इंडेक्स के मुताबिक रिव्यू न लेने के चलते दिल्ली को 17 अधिक रनों की कीमत चुकानी पड़ी। क्योंकि यदि पंत ने रिव्यू ले लिया होता तो अगली दस गेंदों पर डेविड 17 रन ही बना पाते। हालांकि मुंबई ने पांच गेंद शेष रहते ही यह मुक़ाबला अपने नाम कर लिया और दिल्ली को उन्होंने प्लेऑफ़ से बाहर का रास्ता दिखा दिया।
रिव्यू न लेने के अपने निर्णय पर पंत ने मैच के बाद स्टार स्पोर्ट्स ब्रॉडकास्टर पर बात करते हुए कहा, "घेरे में मौजूद हर खिलाड़ी पूरी तरह से संतुष्ट नहीं था, इसलिए मैं उनसे पूछ रहा था कि हमें रिव्यू के लिए जाना चाहिए या नहीं और अंत में मैंने रिव्यू नहीं लेने का फ़ैसला किया।"
हालांकि दिल्ली के कोच रिकी पोंटिंग अपने खेमे की हार के लिए सिर्फ़ इस इकलौती घटना को ज़िम्मेदार मानने के पक्ष में नहीं हैं। मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने कहा, "खेल के सिर्फ़ एक पहलू पर उंगली उठाना हमेशा मुश्किल होता है। इसके बजाय आप पूरे मैच की शून्य से शुरुआत भी कर सकते हैं, जहां हमारा शीर्ष क्रम पूरी तरह से विफल हो गया। मेरे ख़याल से हम 30 या 40 रन पर चार विकेट गंवा चुके थे और टी20 में यह किसी भी लिहाज़ से एक अच्छी शुरुआत नहीं है, वह भी तब जब आप एक निर्णायक मैच खेल रहे हों।"
पोंटिंग ने आगे कहा, "टिम डेविड पहली गेंद पर आउट हो सकते थे, लेकिन इसके बाद उन्होंने बहुत अच्छा खेला। हालांकि इस मैच के बहुत सारे ऐसे पहलू हैं जिससे हम निराश हैं, लेकिन खिलाड़ियों को इससे काफ़ी कुछ सीखने को मिलेगा। इस बात का मलाल ज़रूर है कि यह गेम हमारे हाथ से तब फिसल गया जब आखिरी सात या आठ ओवरों में विपक्षी टीम को प्रति गेंद दो रनों की दरकार थी। इसलिए मैच के दौरान घटित हुईं कई घटनाएं हमारे लिए अफसोसजनक सिद्ध हुई हैं।"
मैच की समाप्ति के बाद पोंटिंग पंत से बातचीत करते नज़र आए थे। प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने पंत के साथ हुई बातचीत के बारे में बताया, "मैंने उनसे कहा कि जिस तरह से हमने खेल के अंतिम क्षणों में गेंदबाज़ी की, जिस तरह से फ़ील्डिंग की, उससे मैं काफ़ी निराश हूं। मुझे लगता है कि हमने मैदान में कई ऐसी चीज़ें की जो हमें नहीं करना चाहिए था। जिस तरह से यह गेम समाप्त हुआ, हमारा इस सीज़न का सफर समाप्त हुआ, उससे मैं बेहद निराश हूं। अगले 12 महीनों तक इस मैच की खट्टी यादें हमारे ज़हन में ताज़ा रहेंगी जब तक कि हम अगले सीज़न वापसी नहीं कर लेते।"
हालांकि पोंटिंग ने कप्तान के तौर पर पंत का बचाव करते हुए कि वह इस रोल के लिए सही व्यक्ति हैं और वह आगे भी उनके साथ काम करने के इच्छुक हैं। पोंटिंग ने कहा, "इसमें कोई दो राय नहीं है कि पंत इस भूमिका के लिए सही व्यक्ति हैं, पिछले सीज़न भी वह कप्तान के तौर पर सबसे सही विकल्प थे। अगर आप पीछे जाएं तो श्रेयस अय्यर के चोटिल होने के बाद पंत ने टीम की बागडोर संभाली और उन्होंने टीम के लिए अविश्वसनीय काम किया। पिछले सीज़न अंक तालिका में हम शीर्ष पर थे लेकिन दो निर्णायक मुक़ाबले हम हार गए। हालांकि मेरे ज़हन में कोई संदेह नहीं है कि वह कप्तानी के लिए सही विकल्प हैं। उन्हें पूरी तरह से मेरा समर्थन हासिल है और मैं उम्मीद करता हूं कि अगले सीज़न भी हम साथ में काम करेंगे।"
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पंत के कप्तान रोहित शर्मा ने भी उनकी कप्तानी की जमकर तारीफ़ की। उन्होंने कहा, "वह एक उम्दा कप्तान हैं और इसमें कोई संदेह नहीं है। कभी कभी चीज़ें आपके पक्ष में नहीं जाती लेकिन यह खेल का हिस्सा है। मैं भी कई बार इस तरह की परिस्थितियों में फंस चुका हूं और मैंने उन्हें इस बारे में बताया भी है। आप इससे काफ़ी कुछ सीख सकते हैं। वह विकेटों के पीछे गेम को बहुत अच्छी तरह से पढ़ते हैं, यह एक बड़ा टूर्नामेंट है जिसमें काफ़ी दबाव रहता है लेकिन आपको अपना आत्मविश्वास नहीं खोना चाहिए और न ही खुद पर संदेह करने लग जाना चाहिए। मैंने उनसे यही चर्चा भी की है, वह एक आत्मविश्वास से भरे हुए व्यक्ति हैं और मुझे उम्मीद है कि वह अगले सीज़न और मज़बूती के साथ वापसी करेंगे।

हेमंत बराड़ ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में ए़डिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।