मैच (5)
एशिया कप (2)
ईरानी ट्रॉफ़ी (1)
भारत बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
लेजेंड्स लीग (1)
ख़बरें

हरनूर और रघुवंशी ने अर्धशतक लगाकर भारत को क्वार्टर फ़ाइनल में पहुंचाया

आयरलैंड ने 66 रनों पर छह विकेट गंवा दिए थे और उसके बाद वापसी नहीं कर सके

Angkrish Raghuvanshi celebrates his half-century with Harnoor Singh, India U-19s vs Ireland U-19s, Tarouba, U-19 World Cup, January 19, 2022

अंगक्रिश और हरनूर ने पहले विकेट के लिए 164 रनों की साझेदारी की  •  ICC via Getty Images

भारत 307 पर 5 (हरनूर 88, रघुवंशी 79, बावा 42, शेरज़ाद 3-79) ने आयरलैंड 133 ऑल आउट (मैकबेथ 32, तांबे 2-8, गौतम 2-11, सांगवान 2-23) को 174 रनों से हराया
कप्तान यश धुल और उप कप्तान शेख रशीद के कोविड-19 पॉज़िटिव पाए जाने के बावजूद भारत ने अंडर-19 विश्व कप के अपने दूसरे मुक़ाबले में आयरलैंड को 174 रनों से हराकर क्वार्टर फ़ाइनल की ओर मज़बूती से कदम बढ़ा दिए हैं।
आयरलैंड ने टॉस जीतकर भारत को बल्लेबाज़ी का न्योता दिया। भारतीय ओपनरों हरनूर सिंह (88) और अंगक्रिश रघुवंशी (79) ने 164 रनों की मज़बूत साझेदारी की। इसके बाद मध्य क्रम ने भी अहम योगदान देते हुए भारत का स्कोर 300 के पार पहुंचाया। लक्ष्य का पीछा करते हुए आयरलैंड ने 22 ओवर के अंदर ही 66 रनों पर अपने छह विकेट गंवा दिए। इसके बाद बस यह तय होना बाक़ी था कि भारत कितने रनों से इस मैच को जीतता है।
17 खिलाड़ियों के दल में छह खिलाड़ी कोविड पॉज़िटिव या संदिग्ध पाए गए और भारतीय टीम के पास बस 11 खिलाड़ी ही बचे थे जो चयन के लिए उपलब्ध थे। हरियाणा के 17 वर्षीय निशांत सिंधु ने टीम का नेतृत्व किया और 34 गेंदों में 36 रन बनाए। उनके अलावा नंबर तीन पर बल्लेबाज़ी करने आए राज बावा ने भी 42 रन बनाए और निचले क्रम के बल्लेबाज़ राजवर्धन हंगारगेकर ने भी अंतिम ओवरों में 17 गेंदों में 39 रनों की पारी खेली, जिससे भारत पांच विकेट पर 307 रन बनाने में कामयाब रहा।
हरनूर और रघुवंशी साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ पहले मैच में सस्ते में आउट हो गए थे, लेकिन इस मैच में रशीद और धुल के मौजूद नहीं होने पर दोनों ने अपनी जिम्मेदारी निभाई। दोनों ही बल्लेबाज़ों ने अपनी पारी की शुरुआत से ही आक्रमक रूख अपनाया। दायें हाथ के बल्लेबाज़ रघुवंशी ने तीसरे ओवर में स्पिनर मैथ्यू हम्फ़्रीज़ की गेंद पर चौकों की ​हैट्रिक लगाई। इसके बाद उन्होंने नेथन मैकग्वायर की गेंद पर भी तीन चौके लगाए। इसके बाद हरनूर ने भी तेज़ गेंदबाज़ मुज़म्मिल शेरज़ाद की गेंद पर दो लगातार चौके लगाए। 10 ओवरों की समाप्ति तक भारत ने बिना कोई विकेट खोए 68 रन बना लिए थे।
रघुवंशी ने हम्फ़्रीज़ की गेंद पर डीप मिडविकेट पर छक्का लगाकर 41 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया।। हरनूर ने भी 56 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया। जल्द ही दोनों बल्लेबाज़ 70 से अधिक के स्कोर पर पहुंच चुके थे। दोनों की यह साझेदारी 26वें ओवर में टूटी, जब स्पिनर जैमी फ़ोर्ब्स ने रघुवंशी को कैच आउट कराया। ओपनिंग साझेदारी ने नंबर तीन पर आए बावा को हाथ खोलने का मौक़ा दिया, लेकिन इस बीच 35वें ओवर में हम्फ़्रीज़ ने हरनूर को 88 रनों पर पगबाधा आउट कर दिया।
आठ विकेट हाथ में बचे थे और लग रहा था कि भारत बड़े स्कोर की ओर जाएगा। वह सिंधु थे जिन्होंने कई आक्रामक शॉट खेले, लेकिन 46वें ओवर में आउट हो गए। इसके बाद भारतीय टीम ने तेज़ गेंदबाज़ हंगारगेकर को ऊपर बल्लेबाज़ी करने के लिए भेजा और उन्होंने दो बेहतरीन छक्के जड़ दिए। 50वें ओवर में उन्होंने शेरज़ाद की गेंद पर छक्कों की हैट्रिक लगा दी और थर्ड मैन पर चौके के साथ पारी का अंत किया।
आयरलैंड कभी भी 308 रनों का पीछा करता हुआ नहीं दिखा। उन्होंने 17 रनों पर तीन विकेट गंवा दिए थे। तेज़ गेंदबाज़ गर्व सांगवान ने इसके बाद आयरलैंड के कप्तान टिम टेक्टर को गली में आउट करा दिया। सांगवान यहीं नहीं रूके, उन्होंने इसके बाद जॉशुआ कॉक्स को भी एक बाहरी किनारे पर विकेटकीपर के हाथों कैच आउट कराया।
आयरलैंड की आधी टीम 66 रनों पर पवेलियन लौट गई थी। स्कॉट मैकबेथ ने ज़रूर 32 रन बनाए लेकिन बायें हाथ के स्पिनर अनीश्वर गौतम ने निचले क्रम के दो बल्लेबाज़ों को और ऑफ़ स्पिनर कौशल तांबे ने आखिरी दो विकेट लेकर अपनी टीम को जीत दिला दी।

श्रेष्‍ठ शाह ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।