मैच (16)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Sheffield Shield (3)
CWC Play-off (3)
BAN v SL (1)
फ़ीचर्स

शुभमन, त्रिपाठी और सुंदर : टी20 सीरीज़ से भारत को मिले कुछ बहुमूल्य ईनाम

कप्तान हार्दिक ने भी नई गेंद से अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया

वनडे विश्व कप साल में भारतीय टीम के सीनियर खिलाड़ी टी20 क्रिकेट से आराम कर रहे हैं और हार्दिक पंड्या की कप्तानी में युवा खिलाड़ियों को मौक़ा मिल रहा है। हाल ही में भारतीय टीम ने श्रीलंका और न्यूज़ीलैंड दोनों को टी20 सीरीज़ में 2-1 से हराया। इन दो टी20 सीरीज़ में भारत के लिए क्या सही क्या ग़लत हुआ?

शुभमन गिल ने दिखाया टी20 स्किल

माना जा रहा था कि शुभमन गिल टी20 में उतना सफल नहीं हो सकते, जितना वह वनडे या टेस्ट में हो रहे हैं। बेंच पर पृथ्वी शॉ के मौजूद होने से उनकी जगह पर सवाल उठाए जा रहे थे। 2023 के पांच टी20आई में शुभमन के नाम सिर्फ़ 76 रन दर्ज था। लेकिन न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ अंतिम मैच में उन्होंने दिखाया कि वह सबसे छोटे फ़ॉर्मैट में भी कमाल कर सकते हैं।
गिल ने तीसरे मैच की अपनी शतकीय पारी के दौरान सात छक्के लगाए, जिसमें ब्लेयर टिकनर पर एक लॉफ़्टेड शॉट और मिचेल सैंटनर पर सीधा छक्का शामिल है। भारत के लिए टी20आई में सर्वश्रेष्ठ 63 गेंदों पर 126 रन की पारी के दौरान शुभमन ने दिखाया कि वह तीनों फ़ॉर्मैट के खिलाड़ी हैं।

नई गेंद के गेंदबाज़- हार्दिक पंड्या

कप्तान, एंकर और फ़िनिशर के बाद हार्दिक अब नए गेंद के गेंदबाज़ भी बन गए हैं। जसप्रीत बुमराह की ग़ैर मौजूदगी में उन्होंने सभी छह मैचों में नई गेंद की ज़िम्मेदारी संभाली। न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ आख़िरी मैच में उन्होंने हार्ड लेंथ की गेंदों से फ़िन ऐलेन और ग्लेन फ़िलिप्स को चलता किया। इससे पहले न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ तीसरे वनडे में जब भारत के मुख्य तेज़ गेंदबाज़ आराम कर रहे थे, तब भी हार्दिक ने नई गेंद की ज़िम्मेदारी संभाली थी।

राहुल त्रिपाठी की निर्भीक बल्लेबाज़ी

न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ तीसरे टी20आई में शुभमन की तरह ही राहुल त्रिपाठी ने भी 200 के स्ट्राइक रेट से 22 गेंदों में 44 रन बनाए। त्रिपाठी ने शुरुआत से ही आक्रामकता दिखाई, जिससे शुभमन को अपनी पारी को आगे बढ़ाने में मदद मिली। वह निःस्वार्थ और निर्भीकता से गेंद पर प्रहार कर रहे थे, जैसा वह अक्सर आईपीएल में करते हैं।

चहल से ऊपर कुलदीप?

कुलदीप यादव ने श्रीलंका के ख़िलाफ़ टी20 सीरीज़ नहीं खेला था लेकिन न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ मिले मौक़े को उन्होंने जबरदस्त तऱीके से भुनाया और सिर्फ़ 5.44 के इकॉनमी से रन देते हुए नौ ओवरों में दो विकेट लिए। कुलदीप के हालिया वनडे और टी20 प्रदर्शन से लगता है कि कलाई के स्पिनर के तौर पर उन्हें युज़वेंद्र चहल के ऊपर प्राथमिकता दी जाएगी।

सफ़ेद गेंद से सुंदर की क्षमता

रवींद्र जाडेजा और अक्षर पटेल की अनुपस्थिति में वॉशिंगटन सुंदर ने मिले मौक़ों को दोनों हाथों से भुनाया। कुलदीप की तरह वह भी श्रीलंका के ख़िलाफ़ टी20आई सीरीज़ का हिस्सा नहीं थे लेकिन न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ उन्होंने बल्ले और गेंद दोनों से बेहतरीन प्रदर्शन किया। 168 अंकों के साथ वह शुभमन (162.8) से भी पहले सीरीज़ के सबसे बहुमूल्य खिलाड़ी (एमवीपी) रहे।
रांची के पहले टी20आई में उन्होंने पहले कसी हुई गेंदबाज़ी की और फिर 28 गेंदों में 50 रन बनाए। तब कप्तान हार्दिक ने कहा था कि यह मैच न्यूज़ीलैंड बनाम वॉशिंगटन हो गया था।

इशान का ख़राब फ़ॉर्म

केएल राहुल, संजू सैमसन और ऋषभ पंत की अनुपस्थिति में इशान किशन के पास टी20 में अपनी जगह पक्की करने का सुनहरा मौक़ा था। दिसंबर में ही उन्होंने वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक लगाया था, लेकिन उसके बाद से वह वनडे और टी20 दोनों में पिछड़ते करते हुए नज़र आ रहे हैं। स्पिन के ख़िलाफ़ उनका संघर्ष तो जगजाहिर है और उन्होंने हालिया दो सीरीज़ में स्पिन के ख़िलाफ़ छह पारियों में तीन बार आउट होते हुए 43 गेंदों में 84.21 के स्ट्राइक रेट से सिर्फ़ 29 रन बनाए। अगर इशान का प्रदर्शन आगे भी ऐसा ही रहा तो भारतीय चयनकर्ता उनसे आगे की तरफ़ देख सकते हैं।

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के दया सागर ने किया है