मैच (12)
आईपीएल (2)
T20I Tri-Series (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

शतकवीर सरफ़राज़ ने मुंबई को रणजी ट्रॉफ़ी के क्वार्टर-फ़ाइनल में पहुंचाया

वहीं झारखंड ने तमिलनाडु को बाहर का रास्ता दिखाया

Sarfaraz Khan extended his rich form with another hundred, Ranji Trophy 2019-20, February 12, 2020

एक और शतक बनाकर सरफ़राज़ ख़ान ने अपने शानदार फ़ॉर्म को बरक़रार रखा  •  PTI

अहमदाबाद में ग्रुप डी के मुक़ाबले में ओडिशा को पारी और 108 रनों से हराने के बाद मुंबई ने 2017-18 के बाद पहली बार रणजी ट्रॉफ़ी के क्वार्टर-फ़ाइनल में प्रवेश किया है। इस जीत के नायक रहे सरफ़राज़ ख़ान जिन्होंने सर्वाधिक 165 रन बनाए, शतकवीर अरमान जाफ़र और मैच में कुल सात विकेट लेने वाले शम्स मुलानी। दूसरी पारी में पांच विकेट लेकर मुलानी इस सीज़न में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ बन गए हैं।
एलीट ग्रुप एच में झारखंड ने दो विकेटों से एक क़रीबी मैच जीतकर तमिलनाडु को रणजी ट्रॉफ़ी से बाहर कर दिया है। दिल्ली के ख़िलाफ़ चंडीगढ़ द्वारा मैच को ड्रॉ करवाने के बाद झारखंड शीर्ष स्थान पर रहा और अब टीम को कम भागफल होने के कारण प्री क्वार्टर-फ़ाइनल मुक़ाबले में प्लेट ग्रुप की शीर्ष टीम नागालैंड का सामना करना पड़ेगा। पहली पारी में अर्धशतक बनाने के बाद झारखंड के कप्तान सौरभ तिवारी ने दूसरी पारी में शानदार 93 रन बनाए जबकि तेज़ गेंदबाज़ राहुल शुक्ला ने मैच में आठ विकेट झटके। पहली पारी में इस सीज़न बाबा इंद्रजीत के तीसरे शतक की मदद से तमिलनाडु ने 285 रन बनाए थे। इसका पीछा करते हुए झारखंड की टीम 226 रनों पर सिमट गई। एम सिद्धार्थ और शाहरुख़ ख़ान ने कुल मिलाकर सात शिकार किए और टीम को बढ़त दिलाई। इसके बाद दूसरी पारी में शुक्ला ने जान लगाकर गेंदबाज़ी की और पांच विकेट झटककर तमिलनाडु को केवल 152 रन ही बनाने दिए। फिर एक बार इंद्रजीत अर्धशतक बनाकर टीम एक छोर को संभाले हुए थे जब अन्य बल्लेबाज़ एक के बाद एक पवेलियन लौट गए। इस सीज़न में 99 की औसत के साथ तीन मैचों में इंद्रजीत ने 396 रन बनाए लेकिन वह टीम को अगले दौर में भेजने में असफल रहे। 212 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए झारखंड ने आठ विकेट गंवाए लेकिन कप्तान की पारी ने उन्हें जीत के क़रीब ला खड़ा किया था।
एलीट ग्रुप से कर्नाटका, उत्तर प्रदेश, उत्तारखंड, मध्य प्रदेश, पंजाब और बंगाल अगले दौर में पहुंचने वाली अन्य टीमें रहीं।
चेन्नई में एलीट ग्रुप सी के मुक़ाबले में कर्नाटका ने पुडुचेरी को पारी और 20 रनों से हरायादेवदत्त पड़िक्कल की 178 रनों की पारी और कप्तान मनीष पांडे के शतक की मदद से पहली पारी में कर्नाटका ने आठ विकेट के नुक़सान पर 453 रन बनाए। इसके जबाव में कप्तान रोहित डी के शतक की बदौलत पुडुचेरी ने 241 रन बनाए। के गौतम ने पांच विकेट लेकर टीम को बड़ी बढ़त दिलाई जिसके बाद पुडुचेरी को फ़ॉलो-ऑन दिया गया। श्रेयस गोपाल ने पांच विकेट लेकर पुडुचेरी को 192 रनों पर समेट दिया।
आंध्रा के ख़िलाफ़ मैच हारने के बावजूद उत्तराखंड ने नॉकआउट में प्रवेश किया। उत्तराखंड द्वारा बनाए गए 194 रनों के जबाव में शेख़ रशीद के अर्धशतक की मदद ने आंध्रा ने 226 रन बनाए। दूसरी पारी में उत्तराखंड की बल्लेबाज़ी डगमगाई और वह केवल 101 रन ही बना पाए। इसके बाद आंध्रा को 70 रनों के लक्ष्य का पीछा करने में ज़्यादा परेशानी नहीं हुई।
मध्य प्रदेश और केरला के बीच मैच ड्रॉ रहा लेकिन बेहतर भागफल होने के कारण मध्य प्रदेश ने टॉप आठ में अपना स्थान पक्का किया। पहले बल्लेबाज़ी करते हुए यश दुबे के 289 रन और रजत पाटीदार के शतक की मदद से 585 रन बनाने के बाद मध्य प्रदेश ने अपनी पारी घोषित की। जबाव में सलामी बल्लेबाज़ पोन्नम राहुल और कप्तान सचिन बेबी के शतकों के दम पर केरला ने 432 रन बनाए।
ईडन गार्डन्स पर मिज़ोरम को मात देकर नागालैंड ने प्लेट ग्रुप में पहले स्थान पर रहकर प्री-क्वार्टर फ़ाइनल मैच में जगह बनाई। पहले बल्लेबाज़ी करते हुए श्रीकांत मुंढे और चेतन बिष्ट की शतकीय पारियों के दम पर नागालैंड ने 509 रन बनाए। इसके बाद गेंदबाज़ों ने मिज़ोरम क 95 रनों पर समेट दिया। हालांकि नागालैंड ने फ़ॉलो-ऑन ना देते हुए दोबारा बल्लेबाज़ी की और पांच विकेट पर 295 रन बनाकर अपनी दूसरी पारी घोषित की। कप्तान तरुवर कोहली के नाबाद 151 रन बनाने के बावजूद मिज़ोरम के बल्लेबाज़ लंबी पारी नहीं खेल पाए और टीम 261 रन ही बना सकीं।
लीग चरण के ठीक बाद खेले जाने वाले प्री-क्वार्टर फाइनल में नागालैंड का सामना झारखंड से होगा, जिसके एलीट ग्रुप टॉपर्स में सबसे कम अंक हैं।

अन्य परिणाम

एलीट ग्रुप ए : राजकोट में गुजरात ने मेघालय को पारी और 139 रनों से हराया। कप्तान भार्गव मेराई और हेत पटेल ने बल्ले के साथ बढ़िया प्रदर्शन करते हुए क्रमशः 223 और 152 रन बनाए।
एलीट ग्रुप बी : रवि तेजा के हरफ़नमौला प्रदर्शन के चलते हैदराबाद ने तीसरे दिन बड़ौदा को 43 रनों से मात दी। मैच में कुल आठ शिकार करने के अलावा दूसरी पारी में उन्होंने 56 रन बनाए। वहीं 412 रनों के लक्ष्य का बचाव करते हुए इशान पोरेल, मुकेश कुमार और निलकंठ दास की तिकड़ी ने चंडीगढ़ को 260 रनों पर समेटकर बंगाल को क्वार्टर-फ़ाइनल का टिकट दिलाया
एलीट ग्रुप सी : जम्मू कश्मीर के ख़िलाफ़ बड़ी जीत दर्ज करने के बाद भी रेल्वेज़ को अगले चरण में जाने का मौक़ा नहीं मिला। पहली पारी में शतक और मैच में दो विकेट लेने वाले युवराज सिंह को प्लेयर ऑफ़ द मैच चुना गया।
एलीट ग्रुप डी : गत चैंपियन सौराष्ट्र ने गोवा के ख़िलाफ़ विशालकाय जीत के साथ अपने रणजी ट्रॉफ़ी अभियान को समाप्त किया। चिराग जानी ने सौराष्ट्र की ओर से शतक जड़ा जबकि चेतन साकरिया ने मैच में 93 रन देकर 9 सफलताएं प्राप्त की।
एलीट ग्रुप ई : सर्विसेज़ ने राजस्थान पर 10 विकेटों की बड़ी जीत हासिल की। 91 रनों पर राजस्थान को रोकने के बाद उन्होंने 301 रन बनाए। दूसरी पारी में राजस्थान केवल दो रनों की बढ़त ले पाया।
एलीट ग्रुप एफ़ : तीन दिनों के भीतर पंजाब ने त्रिपुरा को हराकर अंतिम आठ में प्रवेश किया। पहली पारी में त्रिपुरा को 127 रनों पर ऑलआउट करने के बाद पंजाब 120 पर ही सिमट गई। इसके बाद त्रिपुरा ने जीत के लिए 240 रनों का लक्ष्य रखा जिसे कप्तान मंदीप सिंह के नाबाद 97 रनों के दम पर पंजाब ने आसानी से हासिल कर लिया। अन्य मैच में कप्तान हिमांशु राणा के शतक ने हरियाणा को हिमाचल प्रदेश के ख़िलाफ़ आसान जीत दिलाई।
एलीट ग्रुप जी : महाराष्ट्र ने पांच विकेट पर 211 रनों पर अपनी दूसरी पारी घोषित करते हुए उत्तर प्रदेश को जीत के लिए 357 रनों का कठिन लक्ष्य दिया। हालांकि उत्तर प्रदेश ने छह विकेट बचाकर इसे हासिल किया और एक अंक के अंतर से नॉकआउट की तरफ़ क़दम बढ़ाया। वहीं दूसरे मुक़ाबले में रजनीश गुरबानी ने असम के ख़िलाफ़ मैच में नौ विकेट लेकर विदर्भ को आसान जीत दिलाई। इस जीत के बावजूद पूर्व चैंपियन विदर्भ अंक तालिका में दूसरे स्थान पर रहा।
एलीट ग्रुप एच : छत्तीसगढ़ को क्वार्टर-फ़ाइनल चरण से हाथ धोना पड़ा क्योंकि वह दिल्ली के ख़िलाफ़ अंतिम दिन जीत दर्ज करने में विफल रहे। अमनदीप खरे की 156 रनों की नाबाद पारी की बदौलत छत्तीसगढ़ ने पहली पारी में नौ विकेट के नुक़सान पर 482 रन बनाए और फिर दिल्ली को 295 रनों पर रोक दिया। हालांकि फ़ॉलो-ऑन करते हुए यश ढुल ने अपना लाजबाव फ़ॉर्म जारी रखते हुए दोहरा शतक जड़ा जबकि ध्रुव शोरी ने 100 रन बनाए।

श्रुति रवींद्रनाथ ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।