मैच (15)
ऑस्ट्रेलिया बनाम पाकिस्तान (1)
साउथ अफ़्रीका त्रिकोणीय सीरीज़ (1)
आईएलटी20 (3)
बीपीएल 2023 (2)
बीबीएल (2)
ZIM v WI (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (1)
महिला अंडर-19 विश्व कप (1)
साउथ अफ़्रीका बनाम इंग्लैंड (1)
सुपर स्मैश (1)
भारत बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
ख़बरें

टी20 विश्व कप में एर्विन करेंगे ज़िम्बाब्वे का नेतृत्व

प्रमुख गेंदबाज़ मुज़ाराबानी की टीम में वापसी

पिछले कुछ महीनों से एर्विन हेमस्ट्रिंग की चोट के कारण टीम से बाहर थे  •  Sportsfile via Getty Images

पिछले कुछ महीनों से एर्विन हेमस्ट्रिंग की चोट के कारण टीम से बाहर थे  •  Sportsfile via Getty Images

क्रेग एर्विन अगस्त से ही हेमस्ट्रिंग की चोट के कारण ज़िम्बाब्वे की टीम का हिस्सा नहीं हैं। हालांकि अब वह उस चोट से पूरी तरह उबर चुके हैं और टी20 विश्व कप में टीम का नेतृत्व करेंगे। उनकी अनुपस्थिति में टीम की कमान रेजिस चकाब्वा के हाथों में थी। चकाब्वा के नेतृत्व में ही ज़िम्बाब्वे ने ऑस्ट्रेलियाई धरती पर पहली बार ऑस्ट्रेलिया को पराजित किया था।
ब्लेसिंग मुज़ाराबानी गेंदबाज़ी क्रम की कमान संभालेंगे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर सिर्फ़ एक ही मैच खेला था। ज़िम्बाब्वे ने यह फ़ैसला मुज़ाराबानी की फ़िटनेस के बारे में सोच कर लिया था। जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण वह टीम से बाहर थे। मुज़ाराबानी पीएसएल में मुल्तान सुल्तांस के लिए खेले हैं और आईपीएल में लखनऊ सुपर जायंट्स के साथ नेट गेंदबाज़ के तौर पर जुड़े थे।
इसके अलावा टेंडई चतारा (कॉलरबोन फ़्रैक्चर), मिल्टन शुंबा (क्वाड्रिसेप की चोट) और वेलिंग्टन मसाकाद्ज़ा (कंधे की चोट) ने भी टीम में वापसी कर ली है। इससे ज़िम्बाब्वे की टीम में बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी दोनों में गहराई आएगी।
विक्टर न्याउची, क्लाइव मडांडे, इनोसेंट काइया, ताकुडवनाशे काइटानो और तड़िवनाशे मारुमानी, जो ज़िम्बाब्वे के ऑस्ट्रेलियाई दौरे का हिस्सा थे - को मुख्य टीम में कोई जगह नहीं मिली।
काइया, मारुमानी और न्याउची, केविन कसुज़ा एवं तनाका चिवंगा के साथ रिज़र्व खिलाड़ियों में शामिल हैं।
टी20 विश्व कप के पहले दौर में ज़िम्बाब्वे का सामना आयरलैंड, वेस्टइंडीज़ और स्कॉटलैंड से होगा। वे मेलबर्न में क्रमश: 10 अक्तूबर और 13 अक्तूबर को अभ्यास मैचों में एशिया कप चैंपियन श्रीलंका और नामीबिया का सामना करेंगे।
ज़िम्बाब्वे ने क्वालिफ़ायर में शानदार प्रदर्शन करते हुए टी20 विश्व कप में जगह बनाई थी।