मैच (14)
ENG v PAK (1)
आईपीएल (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
USA vs BAN (1)
WI vs SA (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : आज होगी छक्कों की बरसात, यह गेंदबाज़ चला तो मुंबई की जीत पक्की

यूएई में लगातार सात मैच हार चुकी है आरसीबी, दुबई में मुंबई का प्रदर्शन खराब

Virat Kohli and Rohit Sharma at the toss, Mumbai Indians vs Royal Challengers Bangalore, IPL 2021, Chennai, April 9, 2021

एक दूसरे से मैच में औसत रहा है रोहित और विराट का प्रदर्शन  •  BCCI/IPL

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 का 10वां मैच, तारीख़ 28 सितंबर। मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आसीबी) के प्रशंसक शायद ही इस मैच को भूल पाएं हों। एक ऐसा मैच जहां पर कुल 402 रन बने, इशान किशन एक रन से शतक से चूके और मैच टाई हो गया, जहां आरसीबी ने सुपर ओवर में जीत हासिल कर ली। आज दोबारा दोनों टीम आमने-सामने हैं और मैदान भी वही है दुबई। आंकड़े भी कहते हैं कि दोनों टीमों के मुक़ाबलों में रनों की बारिश होती है। तो आज भी मुमकिन है, लेकिन अगर आज ट्रेंट बोल्ट पावरप्ले में चल गए तो मुंबई इंडियंस को जीत से कोई नहीं रोक सकता है।
छक्कों की बरसात तय
टी20 मैचों में अगर दुबई में किसी मैच में सबसे ज़्यादा छक्के लगे तो वह पिछले साल इन्हीं दोनों के बीच का मैच था, जहां कुल 26 छक्के लगे थे। अगर आईपीएल 2020 से सबसे ज़्यादा स्ट्राइक रेट (कम से कम 250 रन) की बात की जाए तो शीर्ष पांच में तीन बल्लेबाज़ इन दो टीम से हैं। कायरन पोलार्ड (1 नंबर) 177, हार्दिक पंड्या (2 नंबर) 166, एबी डीविलियर्स (4 नंबर) 159 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। वहीं आईपीएल 2020 से 16 से 20 ओवरों के बीच में डीविलियर्स (1 नंबर) 228, पोलार्ड (4 नंबर) 193 और हार्दिक (5 नंबर) 190 के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं। वहीं 16 से 20 ओवरों के बीच सबसे ज़्यादा छक्के इन तीनों ने ही लगाए हैं। डीविलियर्स ने 29, पोलार्ड ने 28 और हार्दिक ने 21।
रोहित बनाम विराट कौन है यहां अव्वल
रोहित शर्मा और विराट कोहली मौजूदा समय में भारतीय टीम के दो बड़े नाम हैं, लेकिन आईपीएल में जब भी यह आमने-सामने होते हैं तो बल्ला शांत ही रह जाता है। रोहित ने 27 पारियों में 28.6 के औसत से 716 रन बनाए हैं, हालांकि सात अर्धशतक जरूर लगाए हैं, जबकि विराट 27 पारियों में 27.9 के औसत से 670 ही रन बना पाए, जिसमें तीन अर्धशतक शामिल रहे। कप्तानी में हालांकि रोहित ने बाज़ी मारी है। दोनों जब टीम के कप्तान रहे तो 16 मैच में 11 बार मुंबई जीती और पांच बार आरसीबी।
यूएई का अभिशाप
इसे यूएई का अभिशाप ही कहें तो ग़लत नहीं होगा, क्योंकि भारत में बेहतरीन खेलने वाली आरसीबी और मुंबई इंडियंस यूएई पहुंचते ही जूझती दिख रही हैं। मुंबई की टीम को दुबई का मैदान रास नहीं आता है। यहां खेले नौ मैचों में उन्होंने केवल 3 ही मैच जीते और 6 मैच हारे हैं, जो ​उनका किसी मैदान पर दूसरा सबसे खराब प्रदर्शन है। 2014 में तो वह यहां एक भी मैच नहीं जीत पाए थे। यह तीन जीत भी उन्होंने केवल एक ही टीम दिल्ली के ख़िलाफ़ दर्ज की हैं। दूसरी ओर यूएई पहुंचते ही आरसीबी जीत की पटरी से उतर गई। उन्होंने इस बार शुरुआती चार मुक़ाबले जीते, लेकिन अगले पांच में से केवल एक ही जीत पाई, यूएई में उन्होंने अपने दोनों मैच हारे, इसी के साथ आरसीबी यूएई में लगातार सात मैच हार चुकी है।
सूर्यकुमार और किशन मचाएंगे तूफान
सूर्यकुमार यादव और किशन दोनों ही आईपीएल 2021 में रन बनाने से जूझ रहे हैं। सूर्यकुमार ने नौ मैचों में 20.1 के औसत से 181 और किशन ने सात मैचों में 14 के औसत से 98 ही रन बनाए हैं, लेकिन आंकड़े कहते हैं कि आरसीबी के ख़िलाफ़ दोनों का बल्ला जमकर बोलता है। आईपीएल 2019 से सूर्यकुमार ने 40 से ज़्यादा के औसत से केवल आरसीबी और राजस्थान रॉयल्स के ख़िलाफ़ ही रन बनाए हैं। इस दौरान सबसे ज़्यादा 154 का स्ट्राइक रेट भी आरसीबी के ख़िलाफ़ रहा। किशन ने भी आरसीबी के ख़िलाफ़ ही 2019 के बाद से सबसे ज़्यादा 165 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। उन्होंने आरसीबी के ख़िलाफ़ ही सबसे ज़्यादा 15 छक्के लगाए हैं, हर 7.5 गेंद के बाद एक छक्का। किशन का भी आईपीएल में सर्वश्रेष्ठ स्कोर (99) आरसीबी के ख़िलाफ़ ही है।
बोल्ट चले तो जीत पक्की
सभी जानते हैं कि बोल्ट मुंबई के अहम गेंदबाज़ों में से एक हैं, लेकिन जब टीम हारती है तो वह छह मैचों में तीन ही विकेट ले पाए और वह भी 8.5 के इकॉनमी से, जबकि जब टीम जीती तो उन्होंने 11 पारियों में 15 विकेट लिए और इकॉनमी रहा 5.7 का। 2020 से यूएई में मुंबई 83 प्रतिशत मैच जीती जब बोल्ट ने पावरप्ले में प्रति ओवर आठ रन से कम दिए। जबकि 82 प्रतिशत मैच तब जीते जब उन्होंने पावरप्ले में कम से कम एक विकेट लिया।

निखिल शर्मा ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर हैं। @nikss26