ईएसपीएन क्रिकइंफ़ो को जानकारी मिली है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने न्यूज़ीलैंड क्रिकेट के सीईओ डेविड व्हाइट के उन दावों को ख़ारिज कर दिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान में सुरक्षा इंतज़ाम ऐसे नहीं थे कि रूका जा सकता। पाकिस्तान में मौजूद ईएसपीएन क्रिकइंफ़ो के सूत्रों ने बताया कि पीसीबी ने पूरी तरह न्यूज़ीलैंड के उन दावों को बेबुनियाद बताया है जिसमें 'उनकी जान को ख़तरा' बताया जा रहा था।

इससे पहले न्यूज़ीलैंड मीडिया के सामने डेविड व्हाइट ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ़्रेंस की थी और उसमें बताया था कि किन परिस्थितियों में उन्हें दौरा रद्द करना पड़ा। उन्होंने बताया कि न्यूज़ीलैंड सरकार की ओर से उन्हें ये बताया गया था कि खिलाड़ियों की जान को ख़तरा है।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को हालांकि इस तरह की किसी भी प्रेस कॉन्फ़्रेंस की जानकारी नहीं है लेकिन उन्होंने इस बात का खंडन किया कि न्यूज़ीलैंड के खिलाड़ियों को जान का ख़तरा था। उन्होंने ये भी कहा कि न्यूज़ीलैंड सरकार की ओर से उन्हें या पाकिस्तान सरकार को भी ये जानकारी नहीं दी गई थी। इससे पहले व्हाइट ये कह चुके थे कि जिस तरह की जानकारी उन्हें मिली थी उसे सार्वजनिक करना सही नहीं था।

पीसीबी इस दौरे के रद्द होने के बाद हुए आर्थिक नुक़सान पर न्यूज़ीलैंड क्रिकेट के साथ बातचीत करने का मन बना रहा है। व्हाइट ने अपनी प्रेस कॉन्फ़्रेंस में तीन वनडे और पांच टी20 अंतर्राष्ट्रीय को आगे की किसी तारीख़ पर खेलने पर भी विचार कर रहा है। लेकिन ये सीरीज़ कहां और कब खेली जाएगी इसपर कुछ कह पाना जल्दबाज़ी होगी।

एक पाकिस्तानी आधिकारी ने न्यूज़ीलैंड क्रिकेट से ये भी सवाल किया कि जब पाकिस्तानी सुरक्षा इंतज़ामों पर भरोसा नहीं था तो अगले दिन वह एयरपोर्ट कैसे गए। न्यूज़ीलैंड द्वारा पाकिस्तान दौरे को रद्द करने के बाद पाकिस्तानी क्रिकेट का भविष्य अंधकार में डूब गया है, तुरंत ही बाद इंग्लैंड ने भी अपने पाकिस्तानी दौरे को लेकर पुनर्विचार कर रहा है। दूसरी ओर पीसीबी लगातार इंग्लिश क्रिकेट बोर्ड से इसको लेकर बात कर रहा है और उन्हें सुरक्षा इंतज़ामों के प्रति आश्वासन दे रहा है। इंग्लैंड ने आख़िरी बार पाकिस्तान का दौरा 2005-06 में किया था।

अगले साल फ़रवरी-मार्च में ऑस्ट्रेलिया को भी 20 सालों बाद पाकिस्तान का दौरा करना है, लेकिन अभी उसको लेकर तस्वीर साफ़ नहीं है।

दान्याल रसूल (@Danny61000) ESPNcricinfo में सब-एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन (@imsyedhussain) ने किया है।