मैच (13)
आईपीएल (2)
T20I Tri-Series (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
USA vs BAN (1)
ख़बरें

रणजी ट्रॉफ़ी का पांचवां राउंड : पृथ्वी शॉ की रिकॉर्डतोड़ पारी, पंजाब का बैज़-बॉल

मुकेश कुमार की धारदार गेंदबाज़ी की बदौलत बंगाल को मिली बेहतरीन जीत

Prithvi Shaw celebrates after reaching his maiden first-class triple century, Assam vs Mumbai, Ranji Trophy 2022-23, 2nd day, January 11, 2023

तिहरा शतक बनाने के बाद पृथ्वी शॉ  •  PTI

रणजी ट्रॉफ़ी के पांचवें राउंड में असम के ख़िलाफ़ 379 रनों की बेहतरीन पारी खेलकर पृथ्वी शॉ पिछले कुछ दिनों से सुर्ख़ियो में हैं। वहीं पंजाब ने सिर्फ़ 24.5 ओवर में 205 रनों का पीछा कर एक चमत्कारिक जीत हासिल की है। इसके अलावा पहली पारी में पिछड़ने के बावजूद बंगाल ने बड़ौदा को हराया।

मुकेश कुमार ने लिखी बंगाल के जीत की पटकथा

मुकेश ने बड़ौदा के ख़िलाफ़ सात विकेट लेकर बंगाल को जीत दिलाने में अहम भूमिका अदा की। इसके अलावा सुदीप घरामी और कप्तान मनोज तिवारी की अर्धशतकीय पारियों की बदौलत बंगाल ने सात विकेट से जीत हासिल की। पहली पारी में बड़ौदा ने 269 रन बनाए थे, जिसके जवाब में बंगाल सिर्फ़ 191 पर ऑलआउट हो गई। लेकिन दूसरी पारी में मुकेश और इशान पोरेल की धारदार गेंदबाज़ी ने बड़ौदा को सिर्फ़ 91 रनों पर समेट दिया। इसके बाद बंगाल ने आराम से 177 रनों लक्ष्य को तीन विकेट के नुक़सान पर प्राप्त कर लिया।

पृथ्वी का रिकॉर्डतोड़ तिहरा शतक


पृथ्वी शॉ ने असम के ख़िलाफ़ 383 गेंदो में 379 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। यह रणजी ट्रॉफ़ी इतिहास का दूसरा सबसे बड़ा और मुंबई के किसी खिलाड़ी के द्वारा सर्वोच्च निजी स्कोर है। इसके अलावा इस मैच में अजिंक्य रहाणे ने भी 191 रनों की शानदार पारी खेली। इन दोनों खिलाड़ियों ने मुंबई को पहले पारी में 687 रनों के आंकड़े तक पहुंचने में मदद की। इस पहाड़ जैसे स्कोर का असम के पास कई जबाव नहीं था। उन्होंने पहली पारी में 370 रन बनाए और फिर फ़ॉलोऑन करते हुए 189 के स्कोर पर ऑल आउट हो गए। इस जीत के साथ मुंबई अब अंक तालिका में सौराष्ट्र के बाद दूसरे स्थान पर है।

हैदराबाद का एक और निराशजनक प्रदर्शन

एक और मैच में ख़राब खेल का प्रदर्शन करते हुए हैदराबाद को सौराष्ट्र के ख़िलाफ़ एक पारी और 57 रनों से हार का सामना करना पड़ा है। पहली पारी में जयदेव उनादकट और धर्मेंद्रसिंह जाडेजा की बेहतरीन गेंदबाज़ी के सामने हैदराबाद सिर्फ़ 79 के स्कोर पर सिमट गई। दोनों गेंदबाज़ों ने तीन-तीन विकेट हासिल किए।

इसके बाद सौराष्ट्र 68.3 ओवर में 327 के स्कोर पर ऑलआउट हो गई लेकिन उनके पास 248 रनों की बड़ी बढ़त थी। इसके बाद जब हैदराबाद फिर से बल्लेबाज़ी करने आई तो उन्हें एक और बार उनादकट और धर्मेंद्रसिंह के कहर का सामना करना पड़ा और वे सिर्फ़ 191 के स्कोर पर ऑल आउट हो गए। दूसरी पारी में दोनों गेंदबाज़ों ने क्रमश: तीन और चार विकेट हासिल किए। इस सीज़न में हैदराबाद के लिए यह चौथी हार है। अब वह ग्रुप के अंक तालिका में अंतिम स्थान पर हैं और यह डर है कि अगले सीज़न में वे एलीट ग्रुप की जगह की प्लेट ग्रुप में चले जाएंगे।

ध्रुव शौरी का शानदार फ़ॉर्म जारी

ख़राब रोशनी के कारण इस मैच में लगभग 90 ओवर का खेल नहीं हुआ था। इसके बावजूद दिल्ली को अंतिम दिन पहली पारी की बढ़त के आधार पर तीन अंक मिले। दिल्ली की तरफ़ से नंबर 10 और 11 के बल्लेबाज़ों के बीच 65 रनों की साझेदारी हुई, जिसके कारण दिल्ली को तीन अंक मिल पाए। पहली पारी में बल्लेबाज़ी करते हुए आंध्रा की तरफ़ से पांच अर्धशतक लगे और उन्होंने 459 का स्कोर बनाया। जवाब में दिल्ली की तरफ़ से ध्रुव शौरी ने इस सीज़न में अपना तीसरा 150 या उससे अधिक (185) का स्कोर बनाया। इसके अलावा हिम्मत सिंह ने भी 104 रनों की बेहतरीन पारी खेली। हालांकि जब 423 के स्कोर पर दिल्ली का नौवां विकेट गिरा तो वह आंध्रा के स्कोर से 36 रन पीछे थे। इसके बाद हर्षित राणा और दिविज मेहरा के बीच एक बेहतरीन साझेदारी हुई। फ़िलहाल दिल्ली अंक तालिका में सातवें स्थान पर है।

पंजाब ने सिर्फ़ 24.5 ओवर में 205 रनों का पीछा किया

ऐसा लग रहा था कि पंजाब और जम्मू कश्मीर के बीच खेला जा रहा मैच ड्रॉ की तरफ़ जाएगा। हालांकि अभिषेक शर्मा के 47 गेंदों में 83 रनों की पारी ने एक मुश्किल दिख रहे लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर लिया। पंजाब जब बल्लेबाज़ी करने उतरी तो दिन में 38 ओवरों का खेल बचा हुआ था लेकिन रोशनी तेज़ी से कम होती जा रही थी। ऐसे में पंजाब के बल्लेबाज़ों ने बैज़बॉल रणनीति के तहत इस लक्ष्य को प्राप्त कर लिया।

पांचवें राउंड के आंकड़ों की कहानी

मध्य प्रदेश ने गुजरात को 260 रनों से हरा कर रणजी ट्रॉफ़ी में लगातार आठवीं आउटराइट जीत मैच दर्ज की। लगातार सबसे ज़्यादा मैच जीतने के मामले में उन्होंने बॉम्बे के रिकॉर्ड की बराबरी की है, जो 1961-62 और 1962-63 में बनाया गया था।

पुडुचेरी ने गोवा को नौ विकेट से हरा कर एलीट ग्रुप में अपनी पहली जीत दर्ज की है। इससे पहले प्लेट ग्रुप में उन्होंने 11 मैच जीते हैं।

ओडिशा के बसंत मोहंती और केरला के जलज सक्सेना ने अपने-अपने प्रथम श्रेणी करियर में 400 विकेट हासिल कर लिए हैं।

आशीष पंत ESPNcricinfo के सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।