मैच (11)
Nepal Tri-Nation (1)
WPL (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
PSL 2024 (2)
Durham in ZIM (1)
IND v ENG (1)
ख़बरें

ड्रेसिंग रूम में पुजारा बिल्कुल भी दबाव में नहीं थे - रोहित शर्मा

पुजारा ने हमेशा भारत को ऐतिहासिक श्रृंखलाओं को जीतने में मदद की है।

रोहित शर्मा ने कहा है कि चेतेश्वर पुजारा भारतीय ड्रेसिंग रूम में बिल्कुल भी दबाव में नहीं थे। पिछले ढाई साल में 28 की औसत के साथ रन बनाने वाले पुजारा ने दूसरी पारी नाबाद 91 रनों की पारी खेली। भारत ने पहले दिन 78 रन बनाया था और मैच में पिछड़ने के बाद अब टीम वापसी करते हुए नज़र आ रही थी। भारत तीसरे इंग्लैंड से 139 रन पीछे थी और 8 विकेट आउट होने बाकी हैं।
यह पूछे जाने पर कि सीनियर खिलाड़ी होने के नाते पुजारा के साथ उनके साथ किस तरीके की बातचीत हुई तो रोहित ने कहा, "ईमानदारी से कहूं तो पुजारा की बल्लेबाज़ी के बारे में कोई बात नहीं हुई है।" "मुझे लगता है कि बातचीत केवल बाहर हो रही है। ड्रेसिंग रूम के अंदर पुजारा के साथ उनके फ़ॉर्म के बारे में एक भी बातचीत नहीं हुई है। हम जानते हैं कि वह क्या बल्लेबाज़ी क्रम में क्या गुणवत्ता लाते हैं, हम उनके अनुभव को जानते हैं। जब आपके पास ऐसा खिलाड़ी होता है, तो मैं मुझे नहीं लगता कि ज्यादा चर्चा की जरूरत है।"
"अगर आप उनके हालिया प्रदर्शन के बारे में बात करते हैं, तो उन्होंने रन नहीं बनाए हैं, लेकिन हमने लॉर्ड्स में उनके और अजिंक्य के बीच एक महत्वपूर्ण साझेदारी देखी है। यह नहीं भूलना चाहिए कि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में क्या किया था। वह ऐतिहासिक टेस्ट श्रृंखला जीतने के लिए पुजारा ने अहम भूमिका निभाई थी।हम भूल जाते हैं, हमारी यादें थोड़ी छोटी होती हैं।"
उन्होंने कहा, "हमें यह सोचने की जरूरत है कि उस खिलाड़ी ने इतने सालों में क्या किया है। यह एक या दो पारियों या एक या दो सीरीज़] के बारे में नहीं है। यह इस बारे में है कि उसने अपने पूरे करियर में क्या किया है। मैं मौजूदा फ़ॉर्म को समझता हूं, लेकिन मौजूदा फ़ॉर्म से कोई फर्क नहीं पड़ता। कई वर्षों में उसने अच्छा प्रदर्शन किया है, और जब हम उसके जैसे किसी खिलाड़ी के बारे में बात करते हैं तो उस पर विचार करने की आवश्यकता होती है।"
पुजारा ने जिस तरीके से कमज़ोर गेंदों को सीमा रेखा से बाहर भेज रहे थे। उससे रोहित काफ़ी खुश थे। ख़ास कर ऐसे समय में जब रोहित ने खुद 37.82 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए।
रोहित ने पुजारा के बारे में कहा, "वह निश्चित रूप से रन बनाने के इरादे से आए थे।" "हमारी यह पारी कभी भी नाबाद रहने के बारे में नहीं थी। हमारा इरादा रन बनाने का था, और पुजारा ने स्पष्ट रूप से दिखाया कि वह रन बनाना चाहते हैं। किसी भी कमज़ोर गेंद पर वह रन बनाने के लिए तैयार थे।" "पुजारा के साथ हमने देखा है कि वह एक बहुत ही अनुशासित बल्लेबाज़ है। हां, यह अलग बात है कि उन्होंने कई दिनों से रन नहीं बनाया है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि पुजारा की गुणवत्ता गायब हो गई है, गुणवत्ता हमेशा से ही उनमे रही है।"
आज जिस तरह से उन्होंने बल्लेबाज़ी की वह काफी प्रशंशनीय था। जब आप 300 से पीछे हों तो कभी भी बल्लेबाज़ी करना आसान नहीं होता है । जिस तरह से उन्होंने बल्लेबाज़ी की वह उनके विशेष चरित्र को दर्शाता है, और एक खिलाड़ी की मानसिकता को भी दिखाता है।"
रोहित ने कहा, "अपने दृष्टिकोण से, उन्होंने वास्तव में अच्छी बल्लेबाज़ी की, लेकिन टीम का काम अभी पूरा नहीं हुआ है।" "हमारे पास आने वाले कुछ महत्वपूर्ण दिन हैं। उम्मीद है कि वह अभी भी जिस तरह से बल्लेबाज़ी करते आए हैं वैसे ही बल्लेबाज़ी करना ज़ारी रखेंगे।"
रोहित ने कहा कि वह इस बात से खुश हैं कि बल्लेबाज़ों ने पहली दिन के खराब प्रदर्शन से वापसी की। उन्होंने कहा, 'ईमानदारी से कहूं तो हमने पहली पारी में खराब बल्लेबाज़ी की। "इंग्लैंड के गेंदबाज़ों ने बहुत अच्छी गेंदें फेंकी। हाँ लेकिन यह निश्चित रूप से 78 रन वाली पिच नहीं थी। हमने दूसरी पारी में अपनी गलतियों को सुधारा, यही वजह है कि हम इस स्थिति में हैं।"

सिद्धार्थ मोंगा ESPNcricinfo के असिस्टेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo के सब एडिटर राजन राज ने किया है।