मैच (11)
आईपीएल (2)
RHF Trophy (4)
Pakistan vs New Zealand (1)
WT20 Qualifier (4)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : पंजाब को ख़ान साहब से कौन बचाएगा?

अंक तालिका की नंबर एक टीम को सबसे बड़े सिरदर्द का इलाज खोजना होगा

पंजाब का शीर्ष क्रम राशिद ख़ान के विरुद्ध संघर्ष करता है  •  BCCI

पंजाब का शीर्ष क्रम राशिद ख़ान के विरुद्ध संघर्ष करता है  •  BCCI

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 का कारवां धीरे-धीरे अपने अंतिम पड़ाव की ओर बढ़ रहा है। अब ऐसा समय आ गया है जहां टीमें या तो प्लेऑफ़ या फिर टूर्नामेंट से बाहर जाने के रास्ते पर जाती नज़र आ रही हैं। ऐसी ही दो धाकड़ टीमों का सामना होगा नवी मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में। एक तरफ़ होगी प्लेऑफ़ में एक क़दम रख चुकी गुजरात टाइटंस तो उनके सामने होंगे पंजाब किंग्स के शेर। आइए इस मैच से जुड़ी मज़ेदार कहानियों और आंकड़ों पर ग़ौर फ़रमाते हैं।
ख़ान साहब से कौन बचाएगा?
भले ही यह मैच दो टीमों के बीच खेला जाना है, हम इसे पंजाब का शीर्ष क्रम बनाम राशिद ख़ान का नाम भी दे सकते हैं। वह क्या है ना कि राशिद ने पंजाब के दोनों सलामी बल्लेबाज़ों को अपनी जेब में रखा है। विश्वास नहीं होता ना? मेरी नहीं तो कम से कम आंकड़ों की सुन लीजिए।
राशिद ने बाएं हाथ के शिखर धवन को टी20 मैचों में चार बार आउट किया है। वहीं विपक्षी कप्तान मयंक अग्रवाल एक बार उनके शिकार बने हैं। बात विकेटों के अलावा स्ट्राइक रेट का भी है। राशिद के ख़िलाफ़ शिखर 93 और मंयक 100 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाज़ी करते हैं। इस बात को ध्यान में रखते हुए राशिद को पावरप्ले में गेंद थमाई जा सकती है।
मध्य ओवरों में एक ऐसा खिलाड़ी है जिसका इस्तेमाल राशिद के विरुद्ध ब्रह्मास्त्र की तरह किया जा सकता है। वह है लियम लिविंगस्टन। इंग्लैंड का यह हरफ़नमौला खिलाड़ी राशिद की गेंदों पर 176 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाज़ी करता है। अब ऐसे आंकड़े जोखिम लिए बिना तो बनते नहीं और यही कारण है कि राशिद की गेंदों पर वह चार बार आउट भी हो चुके हैं। अब यह देखने वाली बात होगी कि क्या लिविंगस्टन अपना स्ट्राइक रेट बढ़ाते हैं या पांचवीं बार राशिद उन्हें बाहर का रास्ता दिखाते हैं।
गुजरात का सबसे बड़ा सिरदर्द
इस सीज़न में अब तक की सबसे सफल टीम बनने के बावजूद गुजरात की टीम में एक ऐसा स्थान है जो आगे चलकर उनकी सबसे बड़ी परेशानी साबित हो सकता है। मैं बात कर रहा हूं बल्लेबाज़ी क्रम में तीसरे नंबर की। विजय शंकर के साथ शुरुआत करने के बाद उन्होंने साई सुदर्शन को आज़माया गया, जिसके बाद हार्दिक पंड्या ख़ुद तीसरे नंबर पर चले गए।
फिर एक बार यह कहानी दोहराई गई जब शंकर को टीम में लाया गया और उनके बल्ले के शांत रहने के बाद सुदर्शन को दूसरा मौक़ा मिला। गुजरात की ओर से तीसरे नंबर पर बल्लेबाज़ी करते हुए केवल एक अर्धशतक बना है और वह भी कप्तान हार्दिक के बल्ले से आया था। सात मौक़ों पर तीसरे नंबर का बल्लेबाज़ 20 रन का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाया है। अब एक क़दम प्लेऑफ़ में रखने के बाद गुजरात को जल्द से जल्द इस समस्या का समाधान खोजना होगा।
जॉनी बनेगा जेंटलमैन
इस सीज़न से पहले हुई बड़ी नीलामी में मोटी रक़म देकर पंजाब ने जॉनी बेयरस्टो को अपना खिलाड़ी बनाया था। उनसे मैच जिताऊ पारियों की उम्मीद थी लेकिन वह इस सीज़न में मात्र 13.2 की औसत से बल्लेबाज़ी कर रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि मज़े के लिए बड़े शॉट लगाने वाले इस खिलाड़ी ने 70 गेंदों में एक भी छक्का नहीं लगाया है। चार बार उन्हें पावरप्ले के भीतर बल्लेबाज़ी करने के लिए उतरना पड़ा है और इस दौरान उन्होंने 130 के स्ट्राइक रेट और 39 की औसत से रन बनाए हैं।
अब जब कोई खिलाड़ी पावरप्ले को अपने नाम करता जा रहा है तो शायद पंजाब बेयरस्टो को धवन के साथ ओपनिंग पर भेजकर मयंक को तीसरे नंबर पर भेज सकती है। अगर ऐसा हुआ तो मयंक स्पिन के विरुद्ध बड़े शॉट लगाने की अपनी कला का परिचय देकर टीम को नियंत्रण प्रदान कर सकते हैं।

अफ़्ज़ल जिवानी (@jiwani_afzal) ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।