महिला बिग बैश लीग में बुधवार को एडिलेड स्ट्राइकर्स ने सिडनी सिक्सर्स को आठ विकेट से हरा दिया। सिडनी सिक्सर्स ने भारत की शेफ़ाली वर्मा के नाबाद 53 रनों की मदद से निर्धारित 20 ओवरों में 142 रन बनाए थे लेकिन एडिलेड स्ट्राइकर्स ने केटी मैक की नाबाद 67 रन की बदौलत आठ गेंद शेष रहते ही आठ विकेट से जीत हासिल कर ली।

पहले ही ओवर में डेन वैन नीकर्क का विकेट शून्य पर गंवाने के बाद मैक और लॉरा वुलफ़ार्ट (33) ने एडिलेड की पारी को संभाला और दूसरे विकेट के लिए 79 रन जोड़े। वुलफ़ार्ट के आउट होने के बाद कप्तान तालिया मैकग्रा (नाबाद 40) ने मैक का भरपूर साथ दिया और नाबाद 64 रन जोड़कर अपनी टीम को जीत दिला दी। सिडनी की ओर से मेटलन ब्राउन सिर्फ़ सफल गेंदबाज़ रहीं।

इससे पहले सिडनी को एलीस पेरी (24) और अलिसा हीली (13) की अनुभवी जोड़ी ने चार ओवर में 29 रन जोड़कर एक सधी हुई शुरुआत दिलाने की कोशिश की। लेकिन इसके बाद डार्सी ब्राउन ने दो विकेट झटककर सिडनी को ज़ोरदार झटके दिए। उन्होंने हीली को कैच आउट कराने के बाद ऐश्ली गार्डनर को शून्य पर बोल्ड किया। पेरी रन आउट हुईं। पावरप्ले के अंतिम ओवर में सिडनी का स्कोर 38 रन पर तीन विकेट था।

लेकिन इसके बाद निकोल बोल्टन (34) और शेफ़ाली ने पारी को संभाला और 12 ओवर में 84 रन जोड़े। शेफ़ाली ने 43 गेंदों की 53 रन की पारी के दौरान छह चौके और एक छक्का जड़ा। हालांकि उन्हें इस दौरान दो आसान सा जीवनदान भी मिला। यह बीबीएल में शेफ़ाली का दूसरा अर्धशतक है, जबकि यह पहली बार था कि वह मध्यक्रम में खेल रही थीं।

दिन के अन्य मुक़ाबले में सोफ़ी डिवाइन के हरफ़नमौला खेल (नाबाद 35 रन और दो विकेट) की बदौलत पर्थ स्क्रॉचर्स ने मेलबर्न स्टार्स को 10 विकेट से हरा दिया। पहले बल्लेबाज़ी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में मेलबर्न नौ विकेट पर सिर्फ़ 97 रन ही बना सका था। जवाब में पर्थ ने इस स्कोर को 10.5 ओवर में बिना विकेट खोए ही हासिल कर लिया। डिवाइन के अलावा बेथ मूनी ने पर्थ के लिए नाबाद 57 रन की शानदार पारी खेली। यह गेंदों के हिसाब से बीबीएल में किसी भी टीम की संयुक्त रूप से दूसरी सबसे बड़ी जीत है।