मैच (19)
आईपीएल (1)
WI vs SA (1)
ENG v PAK (W) (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (4)
T20WC Warm-up (3)
ख़बरें

पाकिस्तान में जीतना श्रीलंका और भारत दौरों के लिए बहुत अच्छी बात है : कमिंस

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान का मानना है कि इस सीरीज़ ने उन्हें बताया कि उनका खेल एशिया में भी सफल हो सकता है

पाकिस्तान को टेस्ट सीरीज़ में 1-0 से पटखनी देने के बाद ऑस्ट्रेलियाई कप्तान पैट कमिंस ने कहा है कि इस सीरीज़ से उन्हें हौसला मिला है कि उनकी रणनीति और खेल की शैली उन्हें एशिया में भी जीत दिला सकती है। उनका यह भी मानना है कि इस जीत से उनके लिए श्रीलंका और भारत में आनेवाले दौरों के लिए आत्मविश्वास में वृद्धि होगी।
ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान में 14 दिन के कठोर परिश्रम के बाद आख़िर शुक्रवार को लाहौर में 10 विकेट लिए, जिनमे से पांच नेथन लायन के हाथ लगे और वहीं कमिंस ने ख़ुद तीन विकेट झटके। कमिंस को इस मैच में आठ विकेट लेने के लिए प्लेयर ऑफ़ द मैच भी घोषित किया गया। वहीं 165.33 की औसत से 496 रन बनाने वाले उस्मान ख़्वाजा प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़ रहे। लेकिन कमिंस, मिचेल स्टार्क और कैमरन ग्रीन जैसे तेज़ गेंदबाज़ों ने सीरीज़ में ऑस्ट्रेलिया के लिए 41 में से 23 विकेट लेकर साबित किया कि एशिया की अपेक्षाकृत धीमी पिचों पर भी उनकी तेज़ गेंदबाज़ी रंग ला सकती है।
मैच के बाद कमिंस ने कहा, "शायद यहां गेंद श्रीलंका जैसी फिरकी नहीं लेती। लेकिन जब हम एशिया आए हैं तो यह बात चर्चा में रही है कि शायद हमें अपने खेल की शैली में बदलाव लाने की ज़रूरत है। इस सीरीज़ ने हमे दिखाया है कि अगर आप गेंदबाज़ी और बल्लेबाज़ी की बुनियादों पर टिके रहें तो आप सफल हो सकते हैं।"
इस सीरीज़ में ग्रीन और ऐलेक्स कैरी जैसे अनुभवहीन खिलाड़ियों ने भी समय समय पर बड़ा योगदान दिया और कमिंस मानते हैं कि इस साल जुलाई में श्रीलंका में होने वाले दो टेस्ट की श्रृंखला के लिए यह अच्छा संकेत है। उन्होंने कहा, "हम बतौर टीम और बतौर खिलाड़ी इस सीरीज़ से काफ़ी आत्मविश्वास लेंगे। हर खिलाड़ी ने दिखाया कि वह एशिया में योगदान दे सकता है। श्रीलंका और भारत में होने वाले सीरीज़ के लिए यह बहुत अच्छी बात है।"
इस जीत के साथ कमिंस 2011 में माइकल क्लार्क के बाद एशिया में सीरीज़ जीतने वाले पहले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान बने। साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने 2016 में न्यूज़ीलैंड को हराने के बाद पहली बार घर के बाहर सीरीज़ अपने नाम किया है। इस दौरान उन्होंने 2017 में बांग्लादेश में और 2019 में इंग्लैंड में सीरीज़ बराबरी के स्कोर पर ज़रूर ख़त्म किया था। 2019 के ऐशेज़ सीरीज़ के बाद उन्होंने पाकिस्तान में पहली बार घर से बाहर कोई टेस्ट खेला है।
कमिंस ने कहा, "हम सब बेहद ख़ुश हैं। घर से बाहर जीतना आसान नहीं होता। पिछले 25-30 दिनों में हमें बहुत मेहनत करनी पड़ी है। हमें पता था यहां की परिस्थितियां घर से बिलकुल अलग होंगी। ऐसे में सीरीज़ जीतना बहुत संतोषजनक बात है।"
इस जीत के जश्न को मनाने के लिए टीम को बहुत समय नहीं मिलेगा। कमिंस, डेविड वॉर्नर, स्टार्क और जॉश हेज़लवुड एक छोटे अवकाश के लिए घर जाएंगे और इसके बाद स्टार्क को छोड़कर बाक़ी तीन खिलाड़ी आईपीएल में अपनी टीमों के साथ जुड़ जाएंगे। वनडे और टी20 सीरीज़ में खेलने वाले खिलाड़ी लाहौर में ही रुकेंगे, जहां पहला वनडे मैच मंगलवार को खेला जाएगा।

ऐलेक्स मैल्कम एसोसिएट एडिटर हैं, अनुवाद सीनियर असिस्टेंट एडिटर देबायन सेन ने किया है