ख़बरें

अगर आप प्रदर्शन नहीं करेंगे तो आपको मौक़े भी नहीं मिलेंगे : पवार

भारतीय टीम के प्रमुख कोच के अनुसार प्रत्येक खिलाड़ी ने हालिया प्रदर्शन के दम पर इस टीम में अपना स्थान पक्का किया

Ramesh Powar speaks to the India Women players, Providence, November 15, 2018

प्रमुख कोच ने बताया कि उन्हें जेमिमाह और शिखा के अनुभव की कमी नहीं खलेगी  •  ICC via Getty

वरिष्ठ और अनुभवी खिलाड़ियों को न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ आगामी द्विपक्षीय सीरीज़ और वनडे विश्व कप के लिए अपने दल से बाहर रखने पर टीम के प्रमुख कोच रमेश पवार ने ज़ोर देकर कहा कि अगर आप प्रदर्शन नहीं करेंगे तो आपको मौक़े नहीं मिलेंगे। तेज़ गेंदबाज़ शिखा पांडे और बल्लेबाज़ जेमिमाह रॉड्रिग्स को 18 सदस्यीय दल से बाहर करने के बाद आख़िरकार भारतीय खेमे के इस आधिकारिक बयान ने चीज़ों को स्पष्टता दी।
न्यूज़ीलैंड के लिए रवाना होने से पहले पत्रकारों ने ऑनलाइन बातचीत के दौरान पवार से पूछा गया कि क्या टीम को शिखा और जेमिमाह के अनुभव की कमी खलेगी। इस प्रश्न का उत्तर देते हुए उन्होंने कहा, "जी नहीं। अंत में पांच चयनकर्ताओं, कप्तान और कोच ने मिलकर खिलाड़ियों को लेकर चर्चा-विचारना की और हम इस नतीजे पर पहुंचे कि यह 18 खिलाड़ी न्यूज़ीलैंड सीरीज़ और विश्व कप में अच्छा कर सकते हैं।"
पवार ने आगे कहा, "जो खिलाड़ी टीम का हिस्सा नहीं है, वह इसके पीछे का कारण जानते हैं। उन खिलाड़ियों और कप्तान, कोच और चयनकर्ता के बीच संचार केवल एक बार नहीं हुआ है, यह लगभग छह महीनों से चलता आ रहा है। मैं भूमिकाओं को लेकर बहुत स्पष्ट था। मैंने स्पष्ट रूप से उन खिलाड़ियों को बताया था कि टीम उनसे क्या उम्मीद कर रही हैं। अंत में यह एक प्रतियोगिता है, हर स्थान के लिए कशमकश है, इसलिए आपको प्रदर्शन करना होगा। अगर आप अच्छा प्रदर्शन नहीं करेंगे, तो आपको मौक़े नहीं मिलेंगे।"
भारतीय दल की घोषणा एक लिखित प्रेस रिलीज़ द्वारा की गई थी। उसमें ना तो चयनकर्ता और ना ही बोर्ड ने जेमिमाह और अनुभवी स्विंग गेंदबाज़ शिखा और बल्लेबाज़ पूनम राउत को नौ फ़रवरी से न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ शुरू हो रही सीरीज़ और फिर वनडे विश्व कप के लिए टीम से अनदेखा करने पर कोई स्पष्टीकरण दिया था। और तो और सितंबर 2020 में नियुक्त होने के बाद से नीतू डेविड के नेतृत्व वाली चयन समिति ने कोई प्रेस कांफ़्रेंस नहीं की है।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को पता चला था ​कि जेमिमाह, शिखा और राउत फ़िट थीं और चयन के लिए उपलब्ध थीं। स्टैंड बाय खिलाड़ियों में भी उनका समावेश नहीं किए जाने पर कई सवाल उठे थे क्योंकि यह तिकड़ी पिछले महीने देहरादून में हुए अभ्यास कैंप का हिस्सा थी। साथ ही ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अपनी पहली टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ और घरेलू वनडे प्रतियोगिता में सभी को प्रभावित करने वाली रेणुका सिंह के मुख्य दल में शामिल होने और ऑलराउंडर सिमरन बहादुर और एस मेघना के स्टैंड बाय के तौर पर चुने जाने से और प्रश्न उठ खड़े हए।
हालांकि पवार के अनुसार प्रत्येक चयनित खिलाड़ी ने अपने हालिया प्रदर्शन के दम पर इस टीम में अपना स्थान पक्का किया है।
पवार ने कहा, "आप हर किसी को नहीं चुन सकते हैं। मुख्य दल में केवल 15 खिलाड़ी हैं और तीन स्टैंड बाय और हम कुछ विशेष चीज़ों को खोज रहे थे, जैसे मेघना और रेणुका जैसे तेज़ गेंदबाज़। वह अच्छा कर रही हैं और उन्हें आगामी मैचों में अवसर मिलेंगे।"
उन्होंने आगे कहा, "यास्तिका (भाटिया), स्मृति और मिताली के साथ हमारा बल्लेबाज़ी क्रम सुसंगत है। हम इसमें ज़्यादा बदलाव नहीं करना चाहते थे। अंत में हम सातों ने मिलकर एक सही टीम को चुना है और अब हमें इस खिलाड़ियों का समर्थन करना है।"
32 वर्षीय शिखा ने जुलाई में इंग्लैंड दौरे पर आख़िरी बार वनडे मैच खेला था। वह ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर भी टीम का हिस्सा थी लेकिन उन्हें वनडे टीम में जगह नहीं मिली थी। यास्तिका ने उसी दौरे पर अपनी ऐसी छाप छोड़ी कि अब उन्होंने जेमिमाह की जगह ले ली है। इंग्लैंड दौरे पर दो वनडे मुक़ाबलों में विफल होने के बाद जेमिमाह को एकादश से बाहर कर दिया गया था।
32 वर्षीय राउत ने 2021 में छह वनडे मैच खेलते हुए एक शतक के साथ 295 रन बनाए। उनकी औसत 73.75 की रही थी लेकिन उनका धीमा स्ट्राइक रेट उनपर भारी पड़ा। आक्रामक युवा बल्लेबाज़ों ने उन्हें पछाड़कर टीम में जगह बनाई। विश्व कप के लिए अनदेखा किए जाने के बाद राउत ने अपनी नाराज़गी ज़ाहिर की थी।

ऑन्नेशा घोष (@ghosh_annesha) ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।