मैच (8)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड (1)
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम इंग्लैंड (1)
ऑस्ट्रेलिया बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
बांग्लादेश ए बनाम इंडिया ए (1)
एलपीएल (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स:अपने आख़िरी अंतराष्ट्रीय मैच में झूलन का परफ़ेक्ट 10

दीप्ति और रेणुका ने भी बटोरे पूरे अंक

Jhulan Goswami claimed the wicket of Alice Capsey, England vs India, 3rd women's ODI, Lord's, September 24, 2022

झूलन ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर के आख़िरी ओवर में भी विकेट लिया  •  ECB via Getty Images

लॉर्ड्स के मैदान पर खेला गया तीसरा वनडे झूलन गोस्वामी का आख़िरी मैच था। हरमनप्रीत कौर और उनकी टीम अपने चैंपियन खिलाड़ी को एक जीत के साथ अलविदा कहना चाह रही थी और उसमें वह सफल रही। एक कम स्कोर वाले रोमांचक मैच में भारत ने इंग्लैंड को 16 रनों से हरा दिया।
आइए देखते हैं इस जीत में भारतीय एकादश के प्रदर्शन पर किसको कितने अंक मिलते हैं।
क्या सही क्या ग़लत
टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी भारतीय टीम के लिए परिस्थितियां मुश्किल ज़रूर थी लेकिन अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आपको ऐसी परिस्थितियों के लिए तैयार रहना चाहिए। इसके अलावा भारतीय टीम शेफ़ाली वर्मा के फ़ॉर्म को लेकर ज़रूर चिंतित होगी। साथ ही भारत को अभी भी अपनी फ़ील्डिंग पर काफ़ी काम करना है।
प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वाधिक)
स्मृति मांधना, 9 : स्मृति ने मुश्किल परिस्थितियों में अर्धशतकीय पारी खेल कर भारतीय पारी को संभालने का पूरा प्रयास किया। दीप्ति शर्मा के साथ एक अहम साझेदारी निभा कर उन्होंने भारतीय टीम को शुरुआती झटकों से उबारने का काम किया।
शेफ़ाली वर्मा, 4: इस सीरीज़ में शेफ़ाली का प्रदर्शन काफ़ी निराशजनक रहा है और वनडे सीरीज़ के दौरान कैट क्रॉस की अंदर आती हुई गेंदों ने उन्हें काफ़ी परेशान किया है। आज भी वह बिना कोई स्कोर बनाए क्रॉस की गेंद पर बोल्ड हो गई। इसके बाद फ़ील्डिंग के दौरान भी उन्होंने कुछ ग़लतियां की।
यास्तिका भाटिया, 6 : शेफ़ाली का विकेट जल्दी गिरने के बाद, आज भारत को एक मज़बूत शुरुआत दिलाने की ज़िम्मेदारी यास्तिका पर थी लेकिन उन्हेोंने भी आज अपने टीम को निराश किया। सिर्फ़ दो गेंदें खेल कर शून्य की निजी स्कोर पर वह क्रॉस की गेंद पर बोल्ड हो गईं। हालांकि कीपिंग के दौरान उन्होंने एक बेहतरीन स्टंपिंग किया था।
हरमनप्रीत कौर, 6: आज क्रॉस की धाकड़ स्विंग गेंदबाज़ी से भारतीय बल्लेबाज़ काफ़ी परेशान रहे और उस फेहरिस्त में हरमनप्रीत भा शामिल थी। पिछले मैच में शानदार शतकीय पारी खेलने वाली हरमनप्रीत आज नौ गेंदों में सिर्फ़ चार बना पाईं। हालांकि आज उन्होंने जिस तरीक़े की कप्तानी की उसकी सराहना ज़रूर होनी चाहिए। उन्होंने गेंदबाज़ी में कई कारगर बदलाव किए। साथ ही उन्होंने काफ़ी आक्रामक फ़ील्ड भी सेट किया।
हरलीन देओल, 4: पिछले मैच में बल्ले के साथ शानदार प्रदर्शन करने वाली हरलीन आज कुछ ख़ास नहीं कर पाई और सिर्फ़ तीन के निज़ी स्कोर पर आउट हो गईं। जब बाक़ी के भारतीय बल्लेबाज़ इंग्लैंड के गेंदबाज़ों के सामने धराशाई हो रहे थे, तब वह भी टीम को संभालने में क़ामयाब नहीं हो पाईं। हालांकि उन्होंने एमी जोंस का एक बढ़िया कैच पकड़ा।
दयालन हेमलता, 4 : इंग्लैंड दौरे पर हेमलता को भारतीय टीम ने कई मौक़े दिए लेकिन वह इन्हें भुनाने में क़ामयाब नहीं हो पाई हैं। आज भी उन्होंने एक मुश्किल पिच पर 17 गेंदें तो खेल ली और इसके बाद सिर्फ़ दो रन के निजी स्कोर पर सोफ़ी एकलस्टन की गेंद पर कैच आउट हो गईं। इसके बाद जब उन्हें गेंद थमाई गई तब भी वह कोई विकेट निकालने में क़ामयाब नहीं हो पाईं।
दीप्ति शर्मा, 10: दीप्ति ने एक लड़खड़ाती हुई भारतीय पारी को एक बढ़िया स्कोर तक पहुंचाने का पूरा प्रयास किया। वह एक छोर पर टिकी रहीं और रन बनातीं रहीं। उनकी सूझ-बूझ से भरी पारी के कारण ही भारत इंग्लैंड को एक ठीक-ठाक लक्ष्य देने में क़ामयाब हो पाया। गेंदबाज़ी के दौरान भी उन्होंने एक विकेट लिया और नॉन स्ट्राइकर छोर पर एक रन आउट करके मैच को ख़त्म किया।
पूजा वस्त्रकर, 7: पूजा को आज गेंद के साथ ज़्यादा मौक़ा नहीं मिला लेकिन बल्लेबाज़ी में उन्होंने 22 रनों का महत्वपूर्ण योगदान दिया। दीप्ति और स्मृति के बाद पूजा ही थीं, जिन्होंने दहाई आंकड़ा पार किया। हालांकि पूजा को अभी भी स्ट्राइक रोटेट करने पर काफ़ी काम करना पड़ेगा।
झूलन गोस्वामी, 10: झूलन भले ही बल्लेबाज़ी के दौरान कुछ ख़ास नहीं कर पाईं लेकिन गेंद के साथ वह बेहतरीन लय में थीं। वह सटीक लाइन और लेंथ के साथ गेंदबाज़ी कर रही थी, जिसके कारण एक छोटा सा लक्ष्य भी इंग्लैंड के सामने पहाड़ जैसा बन गया। उन्होंने अपने 10 ओवर के स्पेल में सिर्फ़ 30 रन देकर दो विकेट हासिल किए।
रेणुका सिंह, 10: फ़िलहाल झूलन के जाने के बाद अगर कोई पूछे कि भारतीय पेस अटैक का नेतृत्व करने की क्षमता किस भारतीय तेज़ गेंदबाज़ में हैं तो उसका आसान सा जवाब निश्चित रूप से रेणुका है। आज के मैच में भी उन्होंने अपनी धारदार गेंदबाज़ी से इंग्लैंड के चार बल्लेबाज़ों को पवेलियन का रास्ता दिखाया और एक छोटे स्कोर के मैच में भी भारत को बनाए रखा।
राजेश्वरी गायकवाड़, 8: गायकवाड़ ने आज के मैच में भले ही शुरुआती ओवरों में कुछ रन लुटाए लेकिन उन्होंने अपने पूरे स्पेल में सिर्फ़ 38 रन दिए और दो विकेट भी लिए। अपने शुरुआती ओवरों के बाद उन्होंने कुछ किफ़ायती ओवर भी फेंके।

राजन राज ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं