मैच (6)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
ख़बरें

पांचवां टेस्ट अगले साल करवाना चाहते हैं सौरव गांगुली

अगले साल भारत इस सीरीज़ का अंतिम टेस्ट खेलना चाहता है

गांगुली नहीं चाहते कि पांचवां टेस्ट हमेशा के लिए स्थगित कर दिया जाए  •  BCCI

गांगुली नहीं चाहते कि पांचवां टेस्ट हमेशा के लिए स्थगित कर दिया जाए  •  BCCI

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने स्पष्ट किया है कि रद्द किए गए मैनचेस्टर टेस्ट के लिए अलग से मैच आयोजित होना चाहिए, जो भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए सीरीज़ के पांचवें मैच के रूप में पहचाना जाएगा। भारतीय टीम के सपोर्ट स्टाफ़ के बीच कोविड -19 के प्रकोप के कारण भारत श्रृंखला के निर्णायक मैच में मैदान में नहीं उतार सका था, जिसके बाद श्रृंखला का भविष्य अधर में लटक गया था।
गांगुली ने पीटीआई से कहा, "हम चाहते हैं कि सीरीज़ पूरी हो जाए क्योंकि 2007 के बाद यह हमारी पहली सीरीज़ जीत [इंग्लैंड में] होगी।टेस्ट क्रिकेट सबसे महत्वपूर्ण प्रारूप है, और हम किसी भी चीज़ के लिए इससे समझौता नहीं करेंगे।"
गांगुली ने आगे कहा, "हम अतिरिक्त वनडे और टी20 मैच खेलने के लिए तैयार हैं और यह कोई मुद्दा नहीं है। बस इतना है कि बाद में खेला जाने वाला टेस्ट मैच श्रृंखला का पांचवां मैच होगा।"
इससे पहले कोलकाता से प्रकाशित होने वाले समाचारपत्र द टेलीग्राफ के हवाले से ये कहा गया था कि अब जो टेस्ट होगा वह सीरीज़ का एकमात्र टेस्ट के तौर पर होगा। ICC इस टेस्ट को कैसे देखता है - रद्द, स्थगित या पुनर्निर्धारित - इसका न केवल श्रृंखला परिणाम बल्कि ECB के बीमा कवर पर भी प्रभाव पड़ेगा। अगर इसे कोविड -19 के प्रकोप के कारण छोड़ दिया गया माना जाता है, तो यह "स्वीकार्य गैर-अनुपालन" के अंतर्गत आता है और भारत के पक्ष में श्रृंखला को 2-1 से समाप्त करता है। इसका मतलब यह भी है कि ईसीबी अपने बीमा कवर का पूरा दावा नहीं कर सकता क्योंकि यह कोविड -19 के लिए कवर नहीं करता है।
हालांकि, ईसीबी ने इस बात पर ज़ोर दिया है कि भारत के किसी भी खिलाड़ी की कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट पॉज़िटिव नहीं आई थी, जबकि भारत ने खिलाड़ियों के "मानसिक स्वास्थ्य" को ध्यान में रखते हुए मैच खेलने से इंकार कर दिया था।
इस बीच, यह सामने आया है कि जब भारत अगले साल सीमित ओवरों के अंतर्राष्ट्रीय मैचों के लिए इंग्लैंड की यात्रा करेगा तो बीसीसीआई ने एक प्रतिस्थापन टेस्ट खेलने की पेशकश की है, जो इस सीरीज़ का हिस्सा रहेगी लेकिन इस तरह के किसी भी मैच की स्थिति स्पष्ट नहीं है। गांगुली ने अब स्पष्ट किया है कि भारत चाहता है कि इस श्रृंखला को जारी रखा जाए। गांगुली इस महीने के अंत में इंग्लैंड में होंगे और उनकी ईसीबी के साथ इस मुद्दे पर बातचीत होने की उम्मीद है।