श्रीलंका के बल्लेबाज़ी कोच ग्रांट फ़्लावर गुरुवार को कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। बस तीन दिन पहले ही टीम के साथ वह इंग्लैंड दौरे से श्रीलंका वापस लौटे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि इससे 13 जुलाई से शुरू होने वाली श्रीलंका और भारत के बीच वनडे सीरीज़ पर भी संकट आ सकते हैं, हालांकि ये अब तक साफ़ नहीं है कि इसका असर उस सीरीज़ पर पड़ेगा या नहीं।

अब तक उस पूरे दल में से सिर्फ़ ग्रांट फ़्लावर ही हैं जो कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं, श्रीलंका के मेडिकल स्टाफ़ को भी भरोसा है कि इसका असर भारत के ख़िलाफ़ होने वाली सीरीज़ पर नहीं पड़ेगा। ख़ास तौर से तब जब ये कहा जा रहा है कि फ़्लावर का दल के किसी दूसरे सदस्य के साथ पिछले तीन दिनों में कोई संपर्क नहीं हुआ था।

मंगलवार को श्रीलंका लौटने के बाद पूरा दल और सपोर्ट स्टाफ़ अलग-अलग कमरों में आइसोलेट हैं। मेडिकल स्टाफ़ का मानना है कि अगर रिपोर्ट फ़ॉल्स पॉज़िटिव नहीं है तो उन्हें कोविड-19 संक्रमण इंग्लैंड में ही हुआ होगा।

श्रीलंका मेडिकल स्टाफ़ के एक सदस्य ने ईएसपीएनक्रिकइंफ़ों से कहा, "हम ये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि फ़्लावर कैसे संक्रमित हुए हैं और साथ ही साथ ये कौन सा वैरिएंट है जिसने उन्हें अपनी चपेट में लिया है।"

पहले के कार्यक्रम के मुताबिक़ शुक्रवार को टीम को आइसोलेशन से बाहर आना था और फिर वह प्रैक्टिस कर सकते थे, लेकिन अब इस कार्यक्रम को फ़िलहाल होल्ड पर रखा गया है। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड इसपर किसी तरह का कोई फ़ैसला अगली आरटी-पीसीआर रिपोर्ट के आने के बाद ही लेगा, जिसके लिए गुरुवार शाम को टेस्ट किया गया है।

इससे पहले मंगलवार को ही इंग्लैंड के खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ़ के साथ सात सदस्यों के कोरोना पॉज़िटिव की ख़बर आई थी। जिसके बाद इंग्लैंड का समस्त दल आइसोलेशन पर चला गया और पाकिस्तान के ख़िलाफ़ एक नई टीम को मैदान में उतरना पड़ा।

फ़्लावर के कोरोना पॉज़िटिव की ख़बर से एक बार फिर श्रीलंकाई टीम सुर्ख़ियों में हैं, इससे पहले भी इंग्लैंड में इस टीम के खिलाड़ियों ने बायो-बबल को तोड़ा था जिसके बाद तीन खिलाड़ियों को निलंबित भी किया गया था। इसके अलावा कॉन्ट्रैक्ट विवाद और सीमित ओवर के लिए कप्तान को बदले जाने की ख़बर ने भी श्रीलंका क्रिकेट को पिछले दो हफ़्तों से सुर्खियों में बनाए रखा है।

एंड्रीयू फ़िडेल फ़र्नान्डो (@afidelf) ESPNcricinfo के श्रीलंका के कॉरेसपोंडेंट हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन (@imsyedhussain) ने किया है।