मैच (19)
IPL (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (6)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स : सेमीफ़ाइनल में हार्दिक-विराट को छोड़कर सभी ने किया निराश

इस मैच में भारत के लिए ग़लत ही ग़लत हुआ

भारतीय खिलाड़ियों के चेहरे पर बुरी हार की निराशा साफ़ दिख रही थी  •  Getty Images

भारतीय खिलाड़ियों के चेहरे पर बुरी हार की निराशा साफ़ दिख रही थी  •  Getty Images

इंग्लैंड से सेमीफ़ाइनल मुक़ाबला 10 विकेट से हारकर भारत टी20 विश्व कप से बाहर हो गया। भारतीय टीम के लिए इस मैच में हार्दिक पंड्या और विराट कोहली की पारी के अलावा कुछ भी बढ़िया नहीं गया। बल्लेबाज़ रन बनाने के लिए तरसते रहें, वहीं गेंदबाज़ों को रन लुटाने के लिए तड़पता हुआ देखा गया।

क्या सही क्या ग़लत?

जैसा कि हमने पहले कहा कि भारत के लिए इस मैच में कुछ अच्छा नहीं गया। भारतीय सलामी बल्लेबाज़ों ने हर मैच की तरह इस मैच में भी ख़राब रहे, फ़ॉर्म में चल रहे सूर्यकुमार यादव आज नहीं चले, वहीं भारतीय गेंदबाज़ों ने कोई इच्छाशक्ति नहीं दिखाई। चलिए अब जानते हैं कि भारतीय खिलाड़ियों को इस मैच में 10 में से कितने अंक मिले?

रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वाधिक)

के एल राहुल, 5 : के एल राहुल ने विश्व कप में ख़राब शुरुआत के बाद लगातार दो अर्धशतक लगाकर फ़ॉर्म में वापसी के संकेत दिए थे। लेकिन इस मैच में वह फिर से अपने पुराने रंग में नज़र आए। पांच रन के स्कोर पर आउट होने से पहले उन्होंने पांच गेंदें खेली और एक चौका लगाया। क्रिस वोक्स की एक उछाल लेती गेंद पर उनको हवा नहीं लगी और वह अपना विकेट बटलर के ग्लव्स में देकर चले आएं।
रोहित शर्मा, 6 : सबको लगा था कि इस महत्वपूर्ण मैच में कप्तान रोहित शर्मा फ़ॉर्म में आ सकते हैं लेकिन यह महज एक संशय था। वह आज क्रीज़ पर टिके भी और कुछ अच्छे शॉट भी दिखाए। लेकिन जब उन्हें अपनी पारी को एक अलग स्तर पर ले जाकर आगे बढ़ाना था तब वह एक ख़राब शॉट खेलकर आउट हो गए। 28 गेंदों में 27 रन की पारी उन्हें लंबे समय तक निराश करती रहेगी।
विराट कोहली, 8: कोहली इस टूर्नामेंट में शानदार फ़ॉर्म में रहे हैं। आज भी उन्होंने अर्धशतक लगाया, जो कि इस टूर्नामेंट के छह मैचों में उनका चौथा अर्धशतक था। हालांकि इस दौरान वह काफ़ी धीमे रहे और उन्होंने 40 गेंदें खेली। जब उन्हें पारी की गति तेज़ करनी थी, तब वह भी अपना विकेट फेंक कर चले गए।
सूर्यकुमार यादव, 6.5 : सूर्यकुमार यादव इस विश्व कप में शानदार फ़ॉर्म में थे, लेकिन शायद आज उनका दिन नहीं था। उन्होंने आज एक चौका और एक छक्का लगाया लेकिन आदिल रशीद की एक लेग स्पिन गेंद को बहुत दूर से ही बाउंड्री पार करने के चक्कर में अपना विकेट फेंक दिया।
हार्दिक पंड्या, 8.5 : हार्दिक ने एक बार फिर दिखाया कि वह बड़े मैचों के खिलाड़ी हैं। वह जब बल्लेबाज़ी के लिए आए तो भारत 12वें ओवर में 75 रन पर तीन विकेट खोकर संघर्ष कर रहा था। उन्होंने पहले थोड़ी धीमी शुरुआत की, लेकिन एक बार हाथ खोलना शुरू किया तो फिर पारी के अंत में ही रुके। उनकी 63 रनों की पारी की बदौलत ही भारतीय टीम 168 रन के चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंच सकी। हां, उनसे भारतीय टीम को गेंदबाज़ी में भी उम्मीद थी लेकिन वह अन्य भारतीय गेंदबाज़ों की तरह ही महंगे साबित हुए और उन्हें कोई विकेट भी नहीं मिला।
ऋषभ पंत, 6.5: पंत 19वें ओवर में बल्लेबाज़ी के लिए आए। वह दो ओवरों में काफ़ी कुछ कर सकते थे लेकिन उनसे ज़्यादा कुछ हुआ नहीं। चार गेंदों में एक चौके के साथ छह रन की पारी खेलने के बाद उन्होंने अपना विकेट हार्दिक के लिए क़ुर्बान कर दिया।
अक्षर पटेल, 5.5 : अक्षर पटेल के लिए यह विश्व कप भुला देने वाला रहेगा। पांच मैचों में उनके नाम सिर्फ़ तीन विकेट रहे और वह कई मैचों में महंगे भी साबित हुए। आज के मैच में भी वह प्रभावित नहीं कर पाए। हालांकि चार ओवर में सिर्फ़ 30 रन देकर वह भारतीय गेंदबाज़ों में किफ़ायती साबित हुए।
आर अश्विन, 5.5 : पिछले मैच में तीन विकेट लेने वाले अश्विन ने इस मैच में फिर निराश किया। दो ओवर में 27 रन देकर वह इकॉनमी के हिसाब से सबसे महंगे गेंदबाज़ साबित हुए। उन्होंने आसानी से रन लुटाए और कोई विकेट भी नहीं लिया। इसलिए भारतीय कप्तान ने उन्हें आगे गेंदबाज़ी कराना ज़रूरी नहीं समझा।
भुवनेश्वर कुमार, 6 : जब भारतीय टीम गेंदबाज़ी के लिए आई तो सबको लग रहा था कि भुवनेश्वर अपनी स्विंग गेंदबाज़ी से क़माल करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। पहले ओवर में उन्हें स्विंग तो मिली लेकिन उन्होंने ख़राब लाइन पर गेंदबाज़ी करते हुए आसान बाउंड्री दी। उन्होंने दो ओवर में 25 रन ख़र्च किए और उन्हें भी अन्य गेंदबाज़ों की तरह कोई विकेट नहीं मिला।
मोहम्‍मद शमी, 6.5 : भारतीय फ़ैंस को भुवनेश्वर की तरह शमी पर भी भरोसा था। उन्हें हर बार की तरह इस बार भी नई गेंद नहीं दी गई, लेकिन जब वह गेंदबाज़ी करने आए तो उन्होंने भी जमकर रन लुटाए। जॉस बटलर और ऐलेक्स हेल्स की जोड़ी को इस सबसे अनुभवी भारतीय गेंदबाज़ को खेलने में कोई परेशानी नहीं हुई और उन्होंने आसानी से शमी पर चौके-छक्के लगाए।
अर्शदीप सिंह, 7: युवा अर्शदीप के लिए यह विश्व कप यादगार तो अंतिम मैच भुला देने वाला रहेगा। हालांकि उन्हें सिर्फ़ दो ओवर करने को मिला और वह भारतीय गेंदबाज़ों में सबसे क़िफ़ायती रहे। उन्होंने नई गेंद से सिर्फ़ 15 रन दिए लेकिन उन्हें दूसरे छोर से कोई सहयोग नहीं मिला।

दया सागर ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं @dayasagar95