जेमिमाह रॉड्रिग्स के 45 रन और हरमनप्रीत कौर के तीन विकेट की मदद से मेलबर्न रेनेगेड्स ने मेलबर्न स्टार्स को सात विकेट से हरा दिया।

पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी स्टार्स की टीम रेनेगेड्स की स्पिन जोड़ी सोफ़ी मोलिन्यू और हरमनप्रीत के सामने टिक ही नहीं सकी और निर्धारित 20 ओवरों में सिर्फ़ 103 रन ही बना पाई। दूसरे ओवर में ही हरमनप्रीत ने एलिस विलानी को बैकवर्ड प्वाइंट पर जेमिमाह के हाथों लपकवाया। मेग लानिंग भी आज सिर्फ़ 17 रन ही बना सकी। नौ ओवर में स्टार्स का स्कोर 41 रन पर चार विकेट था।

इसके बाद किम गार्थ (32) और एरिन ऑस्बोर्न (29) ने धीमे चाल में पारी को संभाला और पांचवें विकेट के लिए 42 रन जोड़े। इसके बाद फिर स्टार्स की पारी भरभरा के गिर पड़ी। मोलिन्यू और हरमनप्रीत ने मिलकर पारी के आख़िरी चार विकेट लिए। आख़िरी गेंद पर हरमन ने एक रन आउट कर टीम हैट्रिक भी पूरी की। इससे पहले वह लगातार दो गेंदों पर दो विकेट ले चुकी थीं।

104 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी रेनेगेड्स के लिए भी शुरुआत कुछ ख़ास नहीं रही। ईव जोंस शून्य पर आउट होकर चलती बनीं। लेकिन इसके बाद रॉड्रिग्स (45) और कार्ली लीसन (41) ने दूसरे विकेट के लिए 81 रन जोड़कर जीत को आसान बना दिया। हालांकि जीत से पहले ही दोनों ग्राथ का शिकार हो गईं। इसके बाद आईं हरमनप्रीत ने नौ गेंदों पर 12 रन बनाकर अपनी टीम को जीत दिला दी।

इससे पहले दिन के पहले मुक़ाबले में भारतीय लेग स्पिनर पूनम यादव का जलवा देखने को मिला। इस मैच में पूनम की टीम ब्रिस्बेन हीट ने सिडनी थंडर को पांच विकेट से हरा दिया। पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी सिडनी थंडर ने स्मृति मांधना के 37 और फ़ीबी लिचफ़ील्ड 40 रन की मदद से निर्धारित 20 ओवर में 143 रन बनाए। पूनम ने हमवतन स्मृति और लिचफ़ील्ड सहित कुल तीन विकेट लिए। दीप्ति शर्मा 12 गेंदों में सिर्फ़ आठ रन ही बना सकीं।

144 रन का पीछा करने उतरी ब्रिस्बेन हीट का पहलाविकेट जल्दी ही गिर गया। लेकिन इसके बाद जॉर्जिया रेडमेन (57) और जॉर्जिया वॉल (25) ने दूसरे विकेट के लिए 41 रन जोड़कर जीत की नींव डाल दी। वॉल के आउट होने के बाद रेडमेन ने मिकायला हिंकली (33) के साथ तीसरे विकेट के लिए 59 रन जोड़े।

रेडमेन को दीप्ति ने हमवतन स्मृति के हाथों कैच कराया। लेकिन तब तक जीत महज औपचारिकता थी। अब ब्रिस्बेन को जीत के लिए 22 गेंदों में 22 रन की ज़रूरत थी, जिसे उन्होंने 10 गेंद शेष रहते ही प्राप्त कर लिया। हैना डार्लिंगटन ने तीन विकेट लिए, लेकिन उनका प्रयास बेकार रहा।

दिन का अंतिम मुक़ाबला होबार्ट हरिकेन्स और पर्थ स्कॉचर्स के बीच हुआ, जिसमें होबार्ट की टीम के लिए खेलते हुए भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज़ ऋचा घोष सिर्फ़ शून्य पर आउट हो गईं। उनकी टीम भी निर्धारित 20 ओवरों में सभी विकेट खोकर सिर्फ़ 96 रन ही बना सकी। पर्थ के लिए मरीज़ान काप ने चार और लिली मिल्स ने तीन विकेट लिए। जवाब में पर्थ स्कॉचर्स ने 15.3 ओवर में पांच विकेट खोकर इस लक्ष्य को हासिल कर लिया। काप ने चार विकेट लेने के साथ-साथ 15 गेंदों में चार चौकों की मदद से नाबाद 18 रन बनाए।